ई श्रमिक कार्ड के ये फायदे नहीं जानते? तो कार्ड बनवाना है बेकार

देश में इस समय ई श्रमिक कार्ड बनवाने की योजना सबसे अधिक चर्चा में है। लोग जैसे तैसे करके अपना श्रम कार्ड बनवाने में लगे हुए हैं, लेकिन अभी तक बहुत से लोगों ई श्रमिक कार्ड के फायदे या बनवाने का लाभ क्या होगा? नहीं पता। लोगों को सिर्फ 1 चीज पता है कि इस कार्ड पर सरकार हर महीने पैसे बैंक में भेजेगी, जो कि कुछ हद तक सही भी है। लेकिन आम लोगों ई श्रमिक कार्ड का सही मतलब व इससे होने वाले अन्य फायदों के बारे में भी जानकारी होनी बेहद जरुरी है।

ये हैं ई श्रमिक कार्ड के फायदे

ये हैं ई श्रमिक कार्ड के फायदे

1. भारत सरकार, ई श्रम कार्ड धारकों को देगी आर्थिक मदद –

ई श्रमिक कार्ड स्कीम से, जो लोग असंगठित क्षेत्र में काम करते हैं उनका रिकॉर्ड केंद्र व राज्य सरकारों के पास होगा। जिससे किसी भी आपात या महामारी स्थिति में सरकार के पास ये मौका रहेगा कि वो आम लोगों आर्थिक मदद सीधे उनके बैंक खाते में भेज सके। इसी क्रम में यूपी सरकार अगले 4 महीनों तक 500 रुपये महीने देगी। 

इसे पढ़ें – श्रमिक कार्ड में कितने पैसे आ रहे हैं? देखें 

2. श्रम कार्ड धारक को मिलेगा 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा –

इस ई-श्रमिक कार्ड का सबसे बड़ा फायदा ये भी है कि इसमें पंजीकृत सभी लोगों को बिना कोई प्रीमियम जमा किये, 2 लाख तक का बीमा कवर मिलता हैं।  आसान भाषा में कहें तो किसी भी एक्सीडेंट या दुर्घटना होने की स्तिथि में सरकार की तरफ से उसे 2 लाख का एक्सीडेंट बीमा कवर दिया जाता है। हादसे का शिकार होने वाले व्यक्ति को आंशिक विकलांग होने की स्तिथि में 1 लाख रूपये और बिक्लांग होने पर 2 लाख रूपये तक दिए जाते हैं।

इसे पढ़ें –  नरेगा पेमेंट लिस्ट (भुगतान विवरण) देखें

 3. सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा सबसे पहले 

श्रम कार्ड के सभी पंजीकृत कामगार, केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के लिए खुद-ब-खुद योग्य हो जायेंगे। इन योजनाओं में मुख्यतः निम्न वर्तमान स्कीमें और भविष्य की सभी श्रमिक सहायता योजनायें शामिल होंगी। 

  • PMSYB पेंशन योजना – इस योजना की श्रम राशि तरकीबन 3000 हैं। गाँव और शहर में दूकानदरो और स्व-नियोजित व्यक्तियों और व्यपारियो के लिए इस योजना में 3000 दिए जाते हैं।
  • PMJJBY योजना – 2 लाख रूपये का बीमा कवर। 
  • अटल पेंशन योजना – 1000 से 5000 रूपये पेंशन 60 साल के बाद (योजना की पूरी जानकारी पढ़ें)
  • पीडीस यानी सार्वजानिक वितरण प्रणाली – इस योजना में केवल सरकारी NFSA वाले श्रमिक शामिल हैं। राशन मिलने की विशेष व्यवस्था। 
  • प्रधानमंत्री आवास योजना – असंगठित क्षेत्र के गरीब परिवारों को ग्रामीण या शहरी आवास योजना के तहत घर बनवाने के लिए धनराशि मिलेगी। इसमें मैदानी क्षेत्र के लिए 1.2 लाख रूपये और पहाड़ी क्षेत्र में श्रमिको को 1.3 लाख रूपये दिए जाते हैं। (- आवास योजना लिस्ट में अपना नाम देखें)
  • राष्ट्रिय सामाजिक सहायता कार्यक्रम – तीन सौ {300} से एक हजार {1000} रूपये और एक हजार { 1000 } से पांच हजार {5000} रूपये तक की आर्थिक सहायता राशि। 
  • AB-PMJAY आयुष्मान भारत कार्ड – इस योजना के तहत 5 लाख का इलाज मुफ्त मिलता हैं। 
  • बुनकरों के लिए स्वाथ्य से सम्बंधित योजना – इस योजना में लाभार्थी को तक़रीबन 15,000 रूपये मिलेंगे। 
  • राष्ट्रिय सफाई कर्मचारी वित्त और विकास निगम – इस योजना के तहत एक निस्चित आर्थिक सहायता दी जाएगी। 
  • प्रधानमंत्री स्वनीधि योजना – छोटे धंधे के लिए 10 हजार तक का लोन, ऑनलाइन प्रक्रिया। 

इसे पढ़ें – स्वनिधि योजना, 10 हजार लोन अप्लाई करें

4. असंगठित कामगारों को सरकार दिलाएगी रोजगार –

जो लोग किसी सरकार या प्राइवेट कंपनी में काम नहीं करते, यानी दिहाड़ी मजदूर हैं उनके काम का कोई ठिकाना नहीं होता। जिनके कारण उन्हें पैसों की समस्या होती है, भारत सरकार इन सभी करोड़ों श्रमिकों का डाटा इकठ्ठा करके, रोजगार देने योजना बनाएगी और उन्हें समय समय पर आर्थिक मदद भी देती रहेगी।

इसे पढ़ें – मुफ्त प्रशिक्षण व रोजगार योजना ddu gky 

ई श्रमिक कार्ड के फायदे पाने के लिए कैसे बनवाए ई श्रम कार्ड –

यह कार्ड आप अपने आप आधार नंबर व OTP की मदद से बनवा सकते हैं। इसके आलावा CSC पर भी ये बनाया जा रहा है। अपने आप ई श्रम कार्ड बनाने के लिए ये स्टेप अपनाएं –

  1. सबसे पहले योजना की इस आधिकारिक वेबसाइट eshram.gov.in/ खोलें 
  2. वेबसाइट पर आने के बाद, Register on e-sharm पर क्लिक करें
  3. इसके बाद आपको इसमें Self Registration आप्शन पर क्लिक करना है
  4. रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आधार नंबर, मोबाइल व OTP भरके वेरीफाई करें
  5. अब अपनी शिक्षा, श्रमिक का प्रकार व बैंक डिटेल आदि भरकर सबमिट करें
  6. इतना करते ही आपका ई श्रम कार्ड बन जाएगा, इसे आप डाउनलोड भी कर सकते हैं

इसे पढ़ें – प्राइवेट नौकरी चाहिए, खोजें इस सरकारी पोर्टल पर

सवाल जबाब (FAQ) –

ई श्रमिक कार्ड क्या है ?

यह एक ऐसा स्पेशल कार्ड है जो सिर्फ “असंगठित क्षेत्र” में काम करने वाले गरीब लोगों के लिए है। इस योजना से जुड़े फायदों को लेने के लिए आपको सबसे पहले इस ई-कार्ड को बनवाना होता हैं तभी आप इस योजना का फायदा ले सकते हैं। श्रमिको की भाग-दौड़ वाली जिंदगी में इस योजना के तहत फायदा लेना काफी आसान हो जाएगा। 

कौन हैं असंगठित श्रेणी वाले मजदूर

दरअसल यह कोई विशेष कोटा वाले व्यक्ति या कार्मिक नही हैं बल्कि यह वो कार्मिक हैं जो छोटी मजदूरी करते हैं। यानी इसे ऐसे कामगार आते हैं तो आयकर श्रेणी में नहीं आते, PF खाता नहीं है, फिक्स नौकरी नहीं है। 

इसे पढ़ें – UP रोजगार मेला रजिस्ट्रेशन 2022

ई-श्रमिक कार्ड के लिए जरुरी दस्तावेज क्या लगते हैं?

  • शिक्षा दस्तावेज। 
  • रोजगार और कौशल या व्यवसाय से जुड़े दस्तावेज। 
  • बैंक डिटेल।
  • आधार कार्ड नंबर 
  • मोबाइल नंबर
  • आवेदक के पते की जानकारी, आदि 

कौन नहीं उठा सकता ई श्रमिक कार्ड के फायदे –

  • जो 60 साल से अधिक आयु के हैं
  • जो लोग इनकम टैक्स भरते हैं 
  • जो प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं और उनका ईपीएफ खाता है 
  • जो भारत के नहीं है
  • बड़े किसान
  • बड़े ब्यापारी
  • सरकार नौकर, आदि।

इसे पढ़ें – CSC सेंटर खोलें की प्रक्रिया जाने 

Leave a Comment