किसान पेंशन योजना 6000 रुपये प्रतिमाह पायें 60 के बाद, रजिस्ट्रेशन शुरू

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना, जिसे किसान पेंशन योजना भी कहते हैं। यह मोदी सरकार के द्वारा किसानों के लिए शुरू की गयी महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना के तहत लघु एवं सीमान्त किसानो को बुजुर्ग अवस्था में प्रतिमाह पेंशन लाभ पाने का मौका मिलता है। इस लेख में हम जानेंगे कि किस प्रकार आप किसान पेंशन योजना से 6000 रुपये पेंशन हर महीने ले सकते हैं और इसके लिए क्या पात्रता व लाभ उठाने की प्रक्रिया है –

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना 6000 –

31 मई 2019 से चालू किसान पेंशन योजना के तहत पति और पत्नी यदि योजना में पंजीकृत हैं तो उन्हें प्रतिमाह कुल 6000 रुपये पेंशन मिल सकते हैं। यह योजना देश के किसानों को सामाजिक और आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए पेंशन प्रदान करती है। मोदी सरकार ने 2022 तक 5 करोड़ किसानों को इस योजना से जोड़ने का लक्ष्य तय किया है।

किसान पेंशन योजना 6000

18 से 40 वर्ष आयु के किसान भाई जिनके पास 2 हेक्टेयर या उससे कम खेती लायक भूमि है वह किसान मान धन योजना का आवेदन कर सकते हैं। योजना का लाभ किसानों को 60 वर्ष की आयु के बाद पेंशन के रूप में मिलेगा। उन्हें इससे पहले उन्हें 55 से 200 रुपये तक आयु के हिसाब से निर्धारित प्रीमियम प्रतिमाह जमा करनी होगी।

किसान भाई इस योजना का लाभ ऑनलाइन माध्यम से रजिस्ट्रेशन कराके पा सकते हैं। आवेदन की प्रक्रिया बेहद आसान है, नजदीकी जन सुविधा केंद्र पर जा कर योजना का आवेदन किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें – प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना

आवश्यक दस्तावेज –

  • अपना बैंक बचत खाता पासबुक
  • अपने कृषि से जुडी जमीन के कागजात ( खसरा खेतौनी )
  • पहचान पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाणपत्र
  • मोबाइल नंबर और मोबाइल
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

6000 पेंशन पाने के लिए किसान पेंशन योजना में आवेदन प्रक्रिया –

  • किसान पेंशन योजना में शामिल होने के लिए नजदीकी CSC या जनसुविधा केंद्र पर जाएँ।
  • जन सुविधा केंद्र के VLE के द्वारा आधिकारिक वेबसाइट पर किसान का रजिस्ट्रेशन और आवेदन होगा। इसके लिए आपकी आधार कार्ड, बैंक पासबुक आदि की जानकारियां भरनी होंगी।
  • रजिस्ट्रशन के दौरान आपको योजना की पहली क़िस्त की राशि ( नीचे दी गयी लिस्ट के अनुसार ) अपने VLE ( मतलब उसी जनसुविधा केंद्र चलाने वाले ) को कैश में देनी होगी। वही आधार, बैंक आदि की डिटेल भरेगा और योजना में पात्र को शामिल करेगा।
  • सफलता पूर्वक आवेदन होने के बाद आवेदक किसान को पेंशन खाता संख्या मिल जाती है। और यह भी पता चल जाता है की उसे कितनी राशि प्रतिमाह जमा करनी होगी।

किसान पेंशन योजना के उद्देश्य –

किसान पेंशन योजना या किसान मान धन योजना पूर्णतयः किसानों के उत्थान के लिए प्रेरित स्कीम है। यह योजना किसानों को बुढ़ापे में सामाजिक और आर्थिक रूप से सबल बनाए रखने में मदद कर करती है।

देश के गरीब किसान, अपनी पूरी जिंदगी खेती-बाड़ी करके अपना जीवन यापन करते हैं। आमदनी का कोई दूसरा जरिया न होने के कारण उनके पास उम्र ढलने के साथ पैसों की तंगी भी शुरू हो जाती है। ऐसे में सरकार उन सभी किसानों को 3000 रुपये प्रतिमाह पेंशन पाने की योजना ला कर उनके बुढ़ापे को सुरक्षित और सुगम बनाना चाहती है।

ये भी पढ़ें – एक परिवार एक नौकरी योजना ऑनलाइन फॉर्म 

प्रधानमंत्री किसान मान धन योजना की खास बातें –

  • किसान पेंशन योजना छोटे और सीमान्त किसानों के लिए स्वेच्छिक और सरकार द्वारा अंशदायी योजना है।
  • पेंशन की प्राप्ति के दौरान यदि एक पात्र व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है, तो उसके जीवनसाथी ( पति या पत्नी ) को प्राप्त पेंशन का पचास प्रतिशत मिलेगी। परिवार के किसी सदस्य को पेसन नहीं मिलेगी। 
  • यदि पात्र ग्राहक ने नियमित रूप से योगदान दिया है और 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने से पहले किसी भी कारण से स्थायी रूप से अक्षम हो गया है।  इस योजना के तहत योगदान जारी रखने में असमर्थ है, तो उसका पति नियमित रूप से भुगतान करके बाद में इस योजना को जारी रखने का हकदार होगा। 
  • अगर कोई पात्र ग्राहक इस योजना को उसके द्वारा योजना में शामिल होने की तिथि से दस वर्ष से कम अवधि के भीतर निकालता है।  तो उसके द्वारा केवल अंशदान का अंशदान देय ब्याज की बचत बैंक दर के साथ उसे वापस कर दिया जाएगा।
  • यदि पात्र व्यक्ति इस सरकारी योजना में अंशदान देते हुए, 60 वर्ष की आयु से 10 वर्ष पहले योजना को छोड़ता है।  तो उससे पूरी अंशदान राशि के साथ व्याज भी लौटाई जाएगी। 
  • यदि किसी पात्र व्यक्ति ने नियमित योगदान दिया है और किसी कारण से उसकी मृत्यु हो गई है, तो उसका जीवनसाथी इस योजना के साथ नियमित रूप से योगदान के भुगतान को जारी रखने का हकदार होगा, और उसे लाभ भी मिलेगा। 
  •  पात्र पति और पत्नी की मृत्यु के बाद, कोष को वापस फंड में जमा किया जाएगा।

ये भी पढ़ें – वृद्ध जन पेंशन योजना लिस्ट 2022

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना की पात्रता –

इस सरकारी योजना का लाभ उठाने के लिए कुछ नियम और शर्ते हैं, जिसके अंतर्गत आने वाले किसानों को ही इस योजना का लाभ मिलेगा  –

  • यह योजना सिर्फ उन्ही छोटे और सीमान्त किसानो के लिए है जिनके पास सरकारी भूमि रिकॉर्ड के अनुसार सिर्फ 2 हेक्टेयर या उससे कम खेती लायक जमीन है।
  • PMKMY का लाभ उठाने के लिए निर्धारित आयु 18 से 40 वर्ष है।
  • पात्र व्यक्ति किसी अन्य सरकारी योजना जैसे राष्ट्रीय पेंसन योजना, कर्मचारी राज्य बीमा निगम योजना, कर्मचारी निधि संगठन योजना आदि में सम्मिलित नहीं होना चाहिए।
  • मान धन योजना में किसान पति और पत्नी दोनों शामिल हो सकते हैं। लेकिन दोनों के अलग-अलग आवेदन और प्रीमियम राशि जमा करना होगा।

किसान पेंशन योजना लिस्ट –

किसान पेशन योजना में कितने वर्ष की आयु वाले व्यक्ति को कितने रुपये की क़िस्त जमा करनी हैं उसकी लिस्ट नीचे दी गयी है –

किसान पेंशन योजना के लाभ

  • प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना ( किसान पेशन योजना ) में भाग लेने वाले व्यक्ति को 60 वर्ष की आयु होने के बाद 3000 रुपये तक की पेंसन मिलेगी।
  • आवेदन के दस वर्ष के भीतर यदि कोई आवेदक किसान योजना से बाहर निकलता है तो उसकी सम्पूर्ण राशि ब्याज सहित वापस मिल जायेगी ।
  • योजना से जुड़ने का सबसे बड़ा लाभ यह है की इससे किसानों के ऊपर कोई आर्थिक बोझ नहीं पड़ता और बुढ़ापे का सहारा भी मिलता जाता है। क्यों की सरकार अपनी तरफ से भी किसानों को अंश दान देती है।

ये भी पढ़ें – ई लाभार्थी भुगतान की स्थिति देखें 

Leave a Comment