घर घर औषधि योजना 2023, राजस्थान सरकार की अनूठी पहल

राजस्थान सरकार ने राज्य के प्रत्येक परिवार तक औषधीय पौधे पहुंचाने के लिए “घर-घर औषधि योजना” की शुरुआत की है. यह योजना लोगों को औषधीय पौधों के प्रति जागरूक करने तथा कोविड जैसी महामारी से लड़ने में मदद करने के लिए लाई गई है. इस योजना के तहत प्रत्येक परिवार को कुछ चुनिंदा औषधीय पौधों की एक किट दी जाएगी, जिसे वह अपने छत,आंगन या गार्डेन में लगा सकते हैं. इस आर्टिकल में आज हम राजस्थान घर घर औषधि योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे.

राजस्थान घर घर औषधि योजना 2023 –

“घर घर औषधि योजना” की शुरुआत राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने 1 अगस्त 2021 को “निरोगी राजस्थान अभियान” के तहत किया था. इस योजना तहत राज्य के लगभग 1 करोड़ 26 लाख परिवारों तक चुनिंदा औषधीय पौधे पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है. इसका संचालन राजस्थान वन विभाग के द्वारा किया जा रहा है. राजस्थान संभवतः देश का पहला राज्य है, जहाँ औषधीय पौधों के प्रति आम जनमानस में जागरूकता फैलाने के लिए इस तरह की अनोखी योजना चलाई जा रही है.

घर घर औषधि योजना के तहत लोगों को चार तरह के औषधीय पौधे- तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा और कालमेघ बिल्कुल निःशुल्क दिए जाएंगे. इस योजना का मुख्य उद्देश्य लोगों को औषधीय गुणों वाले पौधों के प्रति जागरूक करना तथा छोटी-मोटी बीमारी या महामारी से लड़ने में मदद करना है. यह योजना पूरे पाँच साल के लाई गई है. इन पाँच वर्षों में तीन बार लोगों को ये औषधीय पौधे वितरित किए जाएंगे.

अगर आप भी राजस्थान के निवासी हैं, तो ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करने इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. आवेदन की पूरी प्रक्रिया हम आगे बताएंगे.

Also Read: आई एम शक्ति उड़ान योजना का लाभ कैसे उठायें?

घर घर औषधि योजना की मुख्य बातें :

  • इस योजना केवल राजस्थान के निवासियों के लिए है.
  • इस योजना की शुरुआत राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी ने 1 अगस्त 2021 को की थी.
  • इस योजना के तहत लोगों को चार तरह के औषधीय जड़ी-बूटियों वाले पौधे बिल्कुल निशुल्क प्रदान किए जाएंगे. ये चार पौधे हैं- तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा और कालमेघ।
  • इस योजना का संचालन पूरे पाँच साल के लिए किया जाएगा. इसके लिए सरकार ने 210 करोड़ रूपये का बजट रखा है.
  • ये औषधीय पौधे पाँच वर्षों में तीन बार दिए जाएंगे.
  • यह योजना लोगों को औषधीय पौधों के प्रति जागरूक करेगी, जिससे वह छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्या से खुद ही लड़ पाएंगे.
  • इस योजना से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां आप आधिकारिक वेबसाइट plan.rajasthan.gov.in/ पर भी प्राप्त कर सकते हैं.

आवश्यक शर्तें व दस्तावेज :

  • इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के स्थायी निवासी ही ले सकते हैं.
  • इस योजना के तहत आप चार प्रकार के औषधीय पौधे- तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा और कालमेघ प्राप्त कर सकते हैं. प्रत्येक प्रकार के पौधे के दो-दो कलम मिलेंगे.
  • योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास जन आधार कार्ड अवश्य होने चाहिए.

Also Read: PM आवास योजना लिस्ट राजस्थान

घर घर औषधि योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया :

अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो ऑनलाइन या ऑफलाइन तरीके से आवेदन कर सकते हैं. ऑनलाइन आवेदन के लिए राजस्थान वन विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं. इसके अलावा समय-समय पर नगर पंचायत, नगर निगम, नगरपालिका, ग्राम सभा या जनप्रतिनिधियों के माध्यम से भी पौधे वितरित किए जाते है, जहाँ आप सीधे बिना आवेदन पत्र के भी पौधा प्राप्त कर सकते हैं. आपके क्षेत्र में पौधों का वितरण कब होगा इसकी जानकारी आप नगर निगम/पंचायत ऑफिस या अपने वार्ड पार्षद के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं.

 

Also Read: तारबंदी योजना हेतु आवेदन फॉर्म कैसे भरें?

Leave a Comment