Atmanirbhar Bharat Package 3.0 क्या है? जाने राहत पैकेज की 12 बड़ी घोषणाएं

दोस्तों इस लेख में जानेंगे कि मोदी सरकार का Atmanirbhar Bharat Package 3.0 राहत पैकेज क्या है? और इसके तहत किन-किन योजनाओं और सुविधाओं का ऐलान किया गया है? यदि आप किसान, नौकरीपेशा, या उद्यमी हैं तो आपके लिए यह जानकारी काम की हो सकती है। इसलिए इस लेख को जरुर पढ़ें –

Headings of This Article hide
1 Atmanirbhar Bharat Package 3.0 क्या है?

Atmanirbhar Bharat Package 3.0 क्या है?  

आपको बता दें कि केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 12 नवम्बर 2020 को देश की अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए कोरोना काल के तीसरे सबसे बड़े राहत पैकेज का ऐलान किया था। 2.65 लाख करोड़ के इस राहत पैकेज को आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत Atmanirbhar Bharat Package 3.0 के नाम से पेश किया गया है। इस राहत पैकेज के तहत रोजगार, कृषि समेत कोरोना महामारी से प्रभावित 26 अन्य क्षेत्रों के लिए 12 बड़ी घोषणाएं की गयी हैं।

1. किसानों को उर्वरक में सब्सिडी दी जाएगी –

दीपावली के पहले किसानों के लिए मोदी सरकार ने अच्छी खबर दी है। क्यों की Atmanirbhar Bharat Package 3.0 में 65 हजार करोड़ रुपये का उपयोग फर्टिलाइजर सब्सिडी (Fertilizer subsidy) के लिए किया जायेगा। जिससे अच्छी पैदावार के लिए प्रयुक्त होने वाली खादों के दाम कम हो जायेंगे। मोदी सरकार का मानना है कि उर्वरकों में मूल्य में कमी आने से देश के 14 करोड़ किसान आत्मनिर्भर बनेंगे। आप इस बारे में क्या सोंचते हैं नीचे अपनी राय लिख सकते हैं।

2. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की शुरुआत हुई –

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत 1 मार्च 2020 से लेकर 30 सितंबर 2020 के बीच में जिन लोगों की नौकरी चली गयी थी। उन्हें इस योजना के तहत रोजगार और आर्थिक मदद दी जाएगी। Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana में सभी EPFO से जुड़ी कम्पनियाँ शामिल की गयी हैं। लाभार्थी मासिक वेतन यदि 15 हजार से कम है तो उसे इस योजना का लाभ मिलेगा। यह लाभ मासिक वेतन और भविष्य निधि खाते में आर्थिक मदद के द्वारा किया जा सकता है।

3. इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम की सीमा बढ़ी 

इस योजना का लाभ 61 लाख से जादा छोटे उद्यमियों को होगा। क्यों कि अब इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम की सीमा 31 मार्च 2021 तक बढ़ा दी गयी है। आपको बता दें, इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मई में की थी। इस योजना के तहत मुद्रा योजना में कर्ज लेने वाले उद्यमियों को 3 लाख करोड़ रुपये की अतिरिक्त आर्थिक सहायता राशि को मंजूरी दी गयी थी। अब इसे 2.05 लाख और बढ़ा दिया गया है।

4. Atmanirbhar Bharat Package 3.0 में प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना को बढ़ावा –

आत्मनिर्भर भारत के तीसरे राहत पैकेज में मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना को अतिरिक्त 18 हजार करोड़ रूपए दिए हैं। इससे शहरों में घर बनवाने वाले और घर खरीदने वाले 30 परिवारों को फायदा होगा। वित्त मंत्री का मानना है कि इस सहायता राशि से 78 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।

5. निर्माण और बुनियादी ढांचा क्षेत्र को मिलेगी राहत –

निर्माण और बुनियादी ढांचा क्षेत्र में भाग लेने वाले ठेकेदारों को अब सिर्फ 3 प्रतिशत की सुरक्षा राशि ही जमा करनी पड़ेगी। यह इससे पहले 10 प्रतिशत थी। यह योजना दिसंबर 2021 तक लागू रहेगी। इससे निर्माण और बुनियादी ढांचा क्षेत्र में तेजी से विकास होने की सम्भावना है।

6. आत्मनिर्भर भारत पैकेज 3.0 में घर खरीदने वालों को आयकर में मिलेगी छूट –

इस राहत पैकेज में घर बनाकर बेंचने वाले और घर खरीदने वालों को आयकर में छूट देने का ऐलान किया गया है। इसमें दो करोड़ रूपए की आवासीय इकाइयों को पहली बार बेचने पर छूट का प्रावधान है। सर्कल मूल्य और एग्रीमेंट मूल्य का अंतर पहले 10 प्रतिशत था अब 20 प्रतिशत कर दिया गया है।

7. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना को मिलेगी वित्तीय सहायता –

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत मनरेगा और सड़क निर्माण से रोजगार पाने वाले मजदूरों के लिए अच्छी खबर है। इसमें सरकार ने 10 हजार करोड़ की अतिरिक्त सहायता राशि देने का फैसला लिया है। इससे ग्रामीण क्षेत्रों का विकास तेजी से होने की सम्भावना है।

जाने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना क्या है?

8. राष्ट्रीय निवेश और बुनियादी ढांचा कोष को मिलेगी सहायता –

देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए देशी और विदेश निवेश को बढ़ावा देना अति आवश्यक है। इसलिए राष्ट्रीय निवेश और बुनियादी ढांचा क्षेत्रों कोष को 6 हजार करोड़ का एक्वेटी पैकेज दिया गया है।

9. Atmanirbhar Bharat Package 3.0 में विदेशी निर्यात को बढ़ावा मिलेगा –

आत्मनिर्भर भारत का लक्ष्य विदेशी आयात को कम करना और विदेशी निर्यात को बढ़ाना है। इसलिये Atmanirbhar Bharat Package 3.0 में सरकार एक्जिम बैंक को तीन हजार करोड़ रुपये का लाइन ऑफ़ क्रेडिट दिया है। आप को बता दें एक्जिम बैंक आयातकों और निर्यातकों को वित्तीय सहायता प्रदान करता है।

10. कोरोना रिसर्च और वैक्सीन निर्माण के लिए फंड का ऐलान –

कोरोना महामारी के कारण ही देश की अर्थव्यवस्था को इतना बड़ा धक्का लगा है। इसलिए मोदी सरकार ने कोरोना रिसर्च और महामारी के स्थायी समाधान के लिए 900 करोड़ रूपए देने का फैसला लिया गया है। इससे देश में जल्द ही कोरोना वैक्सीन उपलब्ध होने की सम्भावना है।

11. आत्मनिर्भर भारत पैकेज 3.0 में लांच हुई क्रेडिट गारेंटी स्कीम –

स्वास्थ्य और कोरोना प्रभावित अन्य क्षेत्रों के लिए क्रेडिट गारंटी स्कीम 2.0 शुरू की गयी है। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों को इस योजना का लाभ मिलेगा। कर्ज लेने वाली कंपनियों को इस स्कीम के तहत 50 करोड़ से 500 करोड़ तक की सहायता दी जाएगी।

12. उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना की शुरुआत हुई –

घरेलू विनिर्माण क्षेत्रों में उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन को बढ़ावा देने के लिये 1.46 लाख करोड़ का प्रोडक्शन लिंक्ड इनसेंटिव दिया जाएगा। इन क्षेत्रों में दूर संचार, वाहन निर्माण, औषधि निर्माण, समेत 10 क्षेत्र शामिल किये गए है। इससे नए रोजगार और अर्थव्यवस्था के पटरी पर आने की उम्मीद जतायी जा रही है।

Atmanirbhar Bharat Package 3.0 का उद्देश्य 

दोस्तों कोरोना महामारी के कारण भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के सभी देश प्रभावित हुए है। कोरोना लॉक डाउन के कारण देश में करोड़ों लोगों की नौकरियां छूट गयी हैं। और हजारों उद्योग धंधे भी मंद हो गए हैं। ऐसे में मोदी सरकार, आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत अब तक तीन आर्थिक राहत पैकेज की घोषणा कर चुकी है। इन सभी योजनाओं और आर्थिक सहायता का लक्ष्य देश में मंद अर्थव्यवस्था को तेज करना है। जिससे भारत में रोजगार, विदेशी निर्यात, जीडीपी बढ़ सके।

आत्म निर्भर भारत पैकेज 3.0 pdf डाउनलोड करने के लिए इस लिंक पर जाएँ – https://t.co/lBbDdebk1W

मोदी सरकार के इन प्रयासों से क्या अर्थव्यवस्था में कोई सुधार होगा? आप अपनी राय नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।

 

एक देश एक राशन कार्ड योजना रजिस्ट्रेशन शुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *