February 27, 2024
UP

बागपत-रेलवे रोड के लिंक मार्ग को शासन की मंजूरी, इतने करोड़ रूपए हुए पास

उत्तर प्रदेश में ख़ास करके मेरठ के लोगों द्वारा लम्बे समय से बागपत रोड से रेलवे रोड को लिंक करने की मांग हो रही थी। तो सरद्वारा उनके लिए अच्छी न्यूज़ दी गयी है। 13 जनवरी को Government of up ट्विटर हैंडल द्वारा इसकी खबर पोस्ट की गयी है, इसमें कहा गया है कि –

बागपत-रेलवे रोड के लिंक मार्ग को शासन की मंजूरी प्राप्त हो गई है। रक्षा मंत्रालय के प्रस्ताव के आधार पर शासन ने ₹26 करोड़ 14 लाख 95 हजार 157 की प्रशासनिक और वित्तीय स्वीकृति प्रदान करते हुए ₹09 करोड़ 15 लाख 23 हजार 305 की पहली किस्त भी जारी कर दी है।

इससे राष्ट्रीय राजधानी केे समीप स्थित तथा उच्च इंटर सिटी रोड कनेक्टिविटी से संपन्न मेरठ में आर्थिक उन्नत्ति की प्रबल सम्भावनायें बढेंगी। इसके आलावा बागपत – रेलवे रोड बनने से मेरठ में जाम का संकट थोड़ा कम होगा, तथा आर्थिक उन्नत्ति को गति मिलेगी। इस रोड का निर्माण मेरठ विकास प्राधिकरण द्वारा किया जाएगा।

बागपत रोड से रेलवे रोड को लिंक करने के फायदे –

बागपत रोड से रेलवे रोड को लिंक करने के कई फायदे हैं। इनमें से कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं:

  • समय और ईंधन की बचत: वर्तमान में, बागपत रोड से रेलवे रोड जाने के लिए लोगों को कई किलोमीटर का चक्कर लगाना पड़ता है। यह सफर करीब 40 मिनट का होता है। लिंक मार्ग के बन जाने से यह सफर सिर्फ 800 मीटर में पूरा हो जाएगा। इससे लोगों का समय और ईंधन दोनों की बचत होगी।
  • यातायात का दबाव कम होगा: बागपत रोड और रेलवे रोड दोनों ही मेरठ के व्यस्ततम मार्गों में से हैं। इन मार्गों पर हमेशा जाम की स्थिति रहती है। लिंक मार्ग के बन जाने से इन मार्गों पर यातायात का दबाव कम होगा। इससे लोगों को आवागमन में आसानी होगी।
  • व्यापार और उद्योग को बढ़ावा मिलेगा: लिंक मार्ग के बन जाने से बागपत रोड और रेलवे रोड के बीच व्यापार और उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। इससे इन क्षेत्रों में आर्थिक विकास होगा।
  • पर्यावरण की रक्षा होगी: लिंक मार्ग के बन जाने से इन मार्गों पर वाहनों का प्रदूषण कम होगा। इससे पर्यावरण की रक्षा होगी।

कुल मिलाकर, बागपत रोड से रेलवे रोड को लिंक करने से स्थानीय लोगों, व्यवसायियों और उद्योगपतियों को कई लाभ होंगे। यह मेरठ के विकास में भी एक महत्वपूर्ण योगदान देगा। इस लिंक मार्ग के निर्माण को लेकर स्थानीय लोगों ने लंबे समय से आंदोलन किया था।

Deepkant

नमस्कार दोस्तों! मेरा नाम दीपकान्त श्रीवास्तव है, मैं एक Blogger व Content Creator हूँ। SarkariYojnaNews.com ब्लॉग को मैं ही मैनेज करता हूँ। मैं साल 2020 से blogging में फुलटाइम बिज़नस के तौर पर सक्रीय हूँ। मुझे सरकारी योजनाओं व फाइनेंस से जुड़े ब्लॉग पोस्ट लिखना पसंद है। मेरा प्रयास रहता है कि हमारे ब्लॉग को पढ़ने वाले लोगों के पास सही और सटीक जानकारी पहुंचे। Backlinking या Guest Posting से जुड़ी जानकारी हेतु आप [email protected] पर मेल कर सकते हैं।

View all posts by Deepkant →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *