अनाथ बच्चों को मिलेंगे अब 3 हजार रु. प्रतिमाह, भारत सरकार का ऐलान

रक्षा मंत्रालय द्वारा ऐसे अनाथ बच्चों की मासिक आर्थिक सहायता बढ़ाने का ऐलान किया गया है, जो भूतपूर्व सैनिकों के बेटे या बेटियां हैं। देश की सुरक्षा के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान करने वाले ऐसे वीरों के परिवारों के साथ भारत सरकार हमेशा खड़ी है। इसी क्रम रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा भूतपूर्व सैनिकों के अनाथ बच्चों के लिए आर्थिक सहायता को अब तीन गुना करने का ऐलान किया है। आइये इस अपडेट को थोड़ा विस्तार से जानते हैं –

भूतपूर्व सैनिकों के अनाथ बच्चों के लिए खुशखबरी –

आपको बता दें कि अपने देश में केन्द्रीय सनिक बोर्ड (KSB) द्वारा भूतपूर्व सैनिकों के अनाथ बच्चों के लिए एक स्कीम चलाई जाती है। जिसके तहत हर बच्चे को हर महीने सहायता राशि दी जाती है। प्रतिमाह दी जाने वाली यह धन राशि “रक्षा मंत्री एक्स-सर्विसमैन वेलफेयर फण्ड” से दी जाती है।

वर्तमान में भूतपूर्व सैनिकों के अनाथ बच्चों को 1000 रुपये हर महीने दिए जाते थे, जिसे अब बढ़ाकर 3000 रुपये कर दिया गया है। देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा यह ऐलान किया गया है।

भूतपूर्व सनिकों के अनाथ बच्चों के लिए आर्थिक सहायता

इसे पढ़ें – UPSC, SSC की तयारी फ्री में कैसे करें?

क्यों दिए जाते हैं शहीद सैनिकों के अनाथ बच्चों को पैसे –

रक्षा मंत्रालय भूतपूर्व सनिकों के बच्चों को बेहतर जीवन व शिक्षा मुहैय्या करवाने के लिए कृतसंकल्पित है। इसीलिए बच्चों की दैनिक व शिक्षा से जुड़ी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए प्रतिमाह यह सहायता राशि दी जाती है।

बढ़ती महंगाई में ऐसे अनाथ बच्चों की आर्थिक सहायता बढ़ाने के इस फैसले से निश्चित तौर पर राहत मिलेगी। इससे उनके रहन सहन व जीवन शैली में सुधार आने की उम्मीद है।

प्रतिमाह आर्थिक सहायत पाने की क्या है योग्यता –

  1. भूतपूर्व सैनिकों के अनाथ बच्चों की मासिक आर्थिक सहायता स्कीम का लाभ 21 साल से कम उम्र के बच्चों को ही दी जाता है।
  2. इसमें पूर्व सैनिक के अविवाहित बेटे या बेटियों को शामिल किया जाता है।
  3. ऐसे बच्चों की डिटेल्स व एप्लीकेशन फॉर्म भरने का जिम्मा जिला सैनिक बोर्ड का होता है।
  4. बाल्यकाल की देखभाल, शिक्षा व आर्थिक सहायता का लाभ पाने के लिए भूतपूर्व सैनिकों के अनाथ बच्चों को नामांकित किया जाता है।

इसे पढ़ें – यूपी स्कॉलरशिप स्टेटस 2022

रक्षा मंत्रालय के इस ऐलान से क्या होगा लाभ –

  • अनाथ बच्चों को प्रतिमाह एक हजार की बजाय 3 हजार रुपये मिलने से खान-पान व दैनिक आवश्यकताएं पूरा होने में मदद मिलेगी।
  • रक्षा मंत्रालय के इस फैसले से बच्चों में देश के लिए पॉजिटिव इंटेंट पैदा होगा, जिससे वे अपने परिवार जनों के सर्वोच्च बलिदान से मोटीवेट होंगे।
  • युवा होने तक उन्हें आधार भूत जरूरतों के लिए किसी के सामने हाथ नहीं फैलाना होगा।

देखें – PIB इंडिया की आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति

इसे पढ़ें – फ्री राशन और कब तक मिलेगा

Leave a Comment