डिजिटल लॉकर क्या है? » Features, Sign UP & Documents Upload Process

नमस्कार दोस्तों “सरकारी योजना न्यूज़” ब्लॉग में आपका स्वागत है। दोस्तों क्या आप जानते हैं DigiLocker Kya Hai? अगर नहीं तो इस लेख को आखिरी तक पढ़िए। यहाँ हमने Digi Locker की सभी सुविधाओं और उपयोग करने के तरीके को विस्तार से समझाया है।

DigiLocker Kya Hai?

डिजिलॉकर, भारत सरकार द्वारा चलाया गया एक ऑनलाइन क्लाउड स्टोरेज पोर्टल है। जहाँ देश के सभी नागरिक अपने जरुरी दस्तावेजों को ऑनलाइन सहेज सकते हैं। इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2015 में की थी, इसे Digital Locker भी कहते हैं।

DigiLocker, गूगल ड्राइव की तरह ही काम करता है। इसकी खास बात यह है कि इसमें स्टोर किये गए डाक्यूमेंट्स, केंद्र व राज्यों के बहुत से विभागों द्वारा KYC के रूप में मान्य हैं। साथ ही, चूँकि यह इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार के Digital India Corporation के द्वारा मैंनेज किया जाता है। इसलिए इसकी सुरक्षा और विश्वसनीयता भी अधिक है।

⇒ अब पासपोर्ट बनवाने में DigiLocker का करें उपयोग (Latest News)

डिजिलॉकर पोर्टल के उद्देश्य क्या हैं?

Digi Locker System, डिजिटल इंडिया मिशन के अंतर्गत काम करता है। इसका उद्देश्य देश में भौतिक (Physical) रूप में दस्तावेजों के उपयोग को कम से कम करके नागरिकों में डिजिटल सशक्तिकरण मुहैया करवाना है। साथ ही सरकार द्वारा जारी ई-हस्ताक्षर और ई-दस्तावेजों की प्रमाणिकता सुनिश्चित करके फर्जी दस्तावेजों के उपयोग को ख़त्म करना और आम लोगों के लिए सरकारी सेवाएं आसान बनाना है।

DigiLocker के मुख्य बिंदु Kya Hai?

  • Digi Locker का उपयोग करने के लिए आधार कार्ड अनिवार्य है।
  • डिजिटल लाकर का उपयोग करने वाला व्यक्ति अपने दस्तावेजों को देश-दुनिया में कहीं भी एक्सेस कर सकता है।
  • एक DigiLocker अकाउंट धारक को अपने डाक्यूमेंट्स स्टोर करने के लिए 1 GB का क्लाउड स्पेस मिलता है।
  • यह लोगों के डिजिटल डाक्यूमेंट्स के वॉलेट के रूप में कार्य करता है।
  • DigiLocker System में स्टोर किये गए दस्तावेज, IT Act, 2000 & Rule 9A (8 फरवरी 2017) के अनुसार ओरिजिनल डाक्यूमेंट्स के रूप में मान्य हैं।

Digi Locker की सुविधायें क्या हैं?

भारत सरकार के डिजिटल लाकर सिस्टम की सुविधाएँ आम नागरिकों के साथ साथ विभिन्न एजेंसियों को भी दी गयी हैं।

नागरिकों के लिए सुविधाएँ (लाभ) –

  • इसकी मदद से जरुरी कागजात कहीं भी देखें और उपयोग किये जा सकते हैं।
  • ओरिजिनल डाक्यूमेंट्स की तरह digilocker के दस्तावेज सरकारी विभागों में सत्यापित किये जा सकते हैं।
  • अपनी सहमति के अनुसार डिजिटल दस्तावेजों का आदान प्रदान किया जा सकता है।
  • डिजिलॉकर की मदद से रोज़गार, वित्तीय समावेशन, शिक्षा, स्वास्थ्य और सरकारी लाभ आसानी से प्राप्त किये जा सकते हैं।

एजेंसियों के लिए सुविधाएँ –

  • डिजिलॉकर के वजह से अब ऑफिसियल वर्क लोड कम हो पाता है।
  • फर्जी दस्तावेजों के द्वारा धोखाधड़ी से छुटकारा मिलता है।
  • दस्तावेजों का ऑनलाइन सुरक्षित आदान प्रदान सम्भव हो पाता है।
  • सरकारी एजेंसियों को दस्तावेजों के प्रमाणीकरण में आसानी हो पाती है।

DigiLocker का उपयोग कैसे करे?

DigiLocker पर अपने दस्तावेजों को ऑनलाइन सुरक्षित रखने के लिए आपको (Sign Up) यानी नया अकाउंट खोलना होगा। इसके लिए आपके पास अपना आधार नंबर और उससे जुड़ा हुआ मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है। अगर आपका आधार कार्ड, मोबाइल नंबर से लिंक नहीं है तो आप डिजिटल लाकर का उपयोग नहीं कर पाएंगे।

डिजिलॉकर में Sign up करें –

नया अकाउंट बनाने के लिए सबसे पहले Digilocker.gov.in वेबसाइट पर जायें। वेबसाइट के होम पेज पर दाहिनी साइड में दिख रहे Sign up आप्शन पर क्लिक करें।

DigiLocker Kya Hai

इसके बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन करने का फॉर्म खुल जायेगा। यहाँ आपको अपना नाम, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आधार कार्ड नंबर और 6 अंको का सिक्यूरिटी पिन डालना होगा। उसके बाद Submit बटन पर क्लिक करें।

digilocker sign up form

अब आपके उस मोबाइल पर OTP आएगा जो आधार कार्ड से लिंक है। OTP दर्ज करने के बाद Submit बटन पर क्लिक करें।

what is Digi Locker

इसके बाद आपका नया DigiLocker Account Open हो जायेगा।

DigiLocker में लॉग इन करें –

नए पंजीकरण के बाद आपको लॉग इन करने के लिए digilocker पोर्टल के होम पेज Sign in बटन पर क्लिक करना होगा। लॉग इन करने के लिए आपके पास दो विकल्प दिखेंगे –

  • मोबाइल या आधार नंबर के साथ Pin की मदद से
  • Username के साथ Pin की मदद से

लॉग इन करने के बाद आप अपने डिजी लाकर डैशबोर्ड पर आ जायेंगे।

DigiLocker में Document अपलोड करें –

लॉग इन करने के बाद आप central government और state government द्वारा जारी किये जाने वाले डाक्यूमेंट्स को ऑनलाइन देख और digilocker में सेव भी कर सकते हैं। एक बार सेव करने के बाद इसे बार बार अपलोड करने की आवश्यकता नहीं है।

डिजिटल लॉकर में इन इन दस्तावेजों को ऑनलाइन सेव किया जा सकता है –

  1. आधार कार्ड
  2. ड्राइविंग लाइसेंस
  3. व्हीकल का RC
  4. HSC मार्क सीट
  5. SSC मार्क सीट
  6. राशन कार्ड
  7. निवास प्रमाण पत्र
  8. जाति प्रमाणपत्र
  9. आय प्रमाणपत्र
  10. CBSC या UP बोर्ड की मार्क सीट
  11. CSC के प्रमाण पत्र
  12. फिटनेस प्रमाण पत्र आदि

⇓ आपके लिए स्पेशल जानकारियां ⇓

National Digital Health Mission Details

DDU GKY प्रशिक्षण केंद्र & कोर्सेज लिस्ट 

Leave a Comment