गोबर बेंचकर किसान बने लखपती, सरकार ने भेजे 4 करोड़ 40 लाख रु.

गोधन न्याय योजना

गोधन न्याय योजना, छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य के उन किसानों के लिए चलाई जा रही है जो गाय, भैस का पालन पोषण करते है। छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत राज्य के किसानों से उन गायो और भेस का गोबर ख़रीदा जाता है। जिससे उन्हें आर्थिक मदद सीधे बैंक खाते में सरकार द्वारा दी जाती है. योजना में सरकार द्वारा 20 अप्रैल 2023 को पैसे भेजे गए हैं इसकी पूरी डिटेल यहाँ बताई जा रही है –

मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ –

इस योजना के अंतर्गत राज्य के सभी किसान अपने गाय या भैस का गोबर अपने नजदीकी गौठान केंद्र पर बेंच सकते हैं. अब तक सरकार ने राज्य के लगभग सभी जिलों में गौठान केंद्र बनवा चुकी है. ऑफिसियल डाटा के अनुसार करीब 4 लाख किसान अब तक योजना से जुड़ कर आर्थिक लाभ पा रहे हैं.

अबतक की नयी अपडेट –

  • 20 अप्रैल को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा 4 करोड़ 40 लाख रुपये किसानों को ऑनलाइन भुगतान किये हैं
  • इसमें 1 अप्रैल से 15 अप्रैल तक गौठानों में पशुपालक ग्रामीणों,  किसानों व भूमिहीनों से ख़रीदे गये 1.30 लाख क्विंटल गोबर के भुगतान के रूप में 2 करोड़ 59 लाख रुपए डाले गए
  • और गौठान समितियों को 1 करोड़ 6 लाख रुपए व महिला समूहों को 75 लाख रुपए की लाभांश राशि ऑनलाइन भेजी गयी है
  • मुख्यमंत्री जी द्वारा आदेश दिया गया है कि बढती गर्मी में पशुओं के हरे चारे व देखभाल की व्यवस्था सही की जाय.

Also Read: नाबार्ड bank डेयरी लोन की जानकारी

गोठान केंद्र का क्या काम है?

छत्तीसगढ़ सरकार, गोधन न्याय योजना के तहत गोठान केंद्र यानी वर्मी कम्पोस्ट बनाने वाले सेण्टर खोज रही है. यहाँ किसान अपने पशुधन का गोबर बेंच सकते हैं. इसके आलावा किसान फिर से वर्मी कम्पोस्ट भी खरीदकर खेत में डलवा सकते हैं. न्यूज़ के अनुसार किसानों के गोबर को 2 रुपये किलो बेंच सकते हैं, वहीँ वर्मी कम्पोस्ट 8 रुपये किलो खरीद सकते हैं.

गोधन न्याय योजना के मुख्य बिंदु –

  • इस योजना का लाभ हर किसान को देने के लिए अब एक एप्लीकेशन को भी लांच किया गया है जिसके तहत किसान अब मोबाइल एप्लीकेशन से भी इसका लाभ उठा सकते है।
  • योजना के तहत जो किसान है वो गाय और भेस या किसी भी पालतू जानवर के गोबर को बेच सकेंगे।
  • गोबर के इस्तेमाल कर के ईधन व कम्पोस्ट बनाया जाएगा
  • इस योजना के तहत गोबर बेचने के लिए आसानी से मोबाइल, लैपटॉप और कंप्यूटर से रजिस्टर कर सकते है।

मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको इस Application को Google Play Store की मदद से Install करना होता है। इसके लिए आपको अपने फ़ोन में इस Play Store ओपन करना होता है।
  • इसके बाद इसमें Godhan Nyay Yojana नाम से कीवर्ड सर्च करना होता है। इसके लिए आप डायरेक्ट इस लिंक की मदद से भी डाउनलोड कर सकते है।
  • इसके बाद इस एप्लीकेशन को इनस्टॉल करने के बाद इसमें रजिस्टर करना होता है जिसमे आपको पर्सनल जानकारी डालनी होती है।

Also Read: मत्स्य सम्पदा योजना, मछली पालन पर लोन सब्सिडी

मुख्यमंत्री Godhan Nyay Yojana के उद्देश्य –

राज्य में लागू इस योजना के कुछ उद्देश्य इस प्रकार है। इस योजना को किस लिए शुरू किया गया है उसके बारे में यहाँ बताया गया है –

  • जो किसान पशुपालन करते है और वो अपने पशुओं के गोबर बेच कर उससे भी कुछ कमाई करना चाहते है तो यह योजना उनके लिए एक बेहतरीन विकल्प है।
  • आवारा गायों और पशुओं के भी देखभाल की जायेगी और उसके साथ ही इस योजना के तहत उनइ खाद का भी इस्तेमाल किया जाएगा।
  • जो लोग अपने पशुओं को इधर उधर भटकने के लिए छोड़ देते है उन पशुओं को राज्य सरकार को सरकार द्वारा पाला जाएगा और उनके खाद पदार्थ को इस्तेमाल किया जाएगा।

गोधन योजना के तहत कितना मिलता है पैसा?

इस योजना के तहत सरकार किसानों से 2 रूपये प्रति किलों के हिसाब से गोबर खरीदेगी और वो ही उनकी कमाई होगी। गोवंश के गोबर से न सिर्फ कृषि उत्पादन में बल्कि अन्य कामों को भी सरकार द्वारा दिया जाएगा। इसके साथ किसानों की आय में भी वृद्धि होगी।

गोधन न्याय योजना के लाभ –

  • इस योजना के पशुपालकों को प्रोत्साहित किया जाएगा और उसके साथ ही उन्हें पशुपाल हेतु आग्रह कर के उन्हें इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा।
  • इसके साथ ही पशुओं से दूध के उत्पादक की बढ़ोतरी होगी।
  • योजना के तहत जो भी राशि किसानों को दी जायेगी वो उनको सीधे उनके खाते में भेज दी जायेगी।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए इस पोर्टल पर रजिस्टर करवाना बेहद ही जरुरी है।
  • योजना से जुड़ा लाभ लेने के लिए मोबाइल एप्लीकेशन और कंप्यूटर एप्लीकेशन का इस्तेमाल कर सकते है।
  • पशुपालन गोबर इत्यादि बेचने का स्वरोजगार शुरू कर सकते है जिससे उनको खुद से फायदा होगा।
  • इस योजना में गाँव और शहर दोनों को जोड़ा जाएगा।

Also Read: PM शहरी आवास योजना में आवेदन की लास्ट डेट

Godhan Nyay Yojana के पात्र –

  • इस योजना में आवेदन करने वाला प्रार्थी छत्तीसगढ़ राज्य का मूल निवासी होना चाहिए।
  • वही आवेदन के समय प्रार्थी के पास जरुरी दस्तावेज होने जरुरी है।
  • योजना में आवेदन करने वालों को आवेदन करते समय पशुओं की संख्या के बारे में जानकारी देनी होती है।
  • किसान अगर धनी है या उनके पास जमीन जायदाद है तो वो इस योजना के लिए पात्र नही होंगे।

गोधन न्याय योजना पंजीयन फार्म के लिए दस्तावेज –

  • आधार कार्ड
  • पेन कार्ड
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • वोटर आईडी कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • आय प्रमाण पत्र

Also Read: EWS प्रमाण पत्र ऑनलाइन कैसे करें?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *