कौशल विकास योजना ट्रेनिंग सेंटर कैसे खोले? ये हैं अनिवार्य आवश्यकताएं

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत देश मे हर युवा को उसके skill के अनुसार प्रशिक्षण व रोजगार मिले, इस दिशा में मोदी सरकार लगातार प्रयास कर रही है। केंद्र सरकार की इस योजना का संचालन करने के लिए कौशल विकास ट्रेनिंग सेण्टर बनाये जाते हैं। अगर आप भी कौशल विकास योजना ट्रेनिंग सेंटर खोलना चाहते है तो इस लेख मे इसके बारे मे पूरी जानकारी दी जा रही है –

कौशल विकास योजना ट्रेनिंग सेंटर –

देश में स्कूल ड्राप आउट और बेरोजगार पढ़े लिखे युवाओं को स्किल ट्रेनिंग देने के लिए आप भी कौशल विकास ट्रेनिंग सेंटर खोल सकते हैं। अब तक हजारों प्रशिक्षण संस्थान इस स्कीम से जुड़ चुके हैं। देश मे खोले जाने वाले इन केन्द्रों के माध्यम से युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों के कामों को करने का कौशल प्रशिक्षण दिया जाता है। जिसके बाद उन्हें नौकरी भी दिलाई जाती है।

किसी विशेष स्किल को बिल्ड करके, अपने भविष्य को व्यवस्थित करना और पैसे कमाना बेहद जरुरी है। इससे न सिर्फ युवाओं के परिवारों की हालत सुधरती है बल्कि देश भी तेजी से विकास करने लगता है।

इन कौशल विकास योजना ट्रेनिंग सेंटरों को कोई भी पढ़ा लिखा व अनुभवी नागरिक खोल सकता है। अगर आप भी इस सेण्टर को खोलने की सोच रहे है तो आप इस लेख को अन्तिम तक पढ़ सकते है।

इसे पढ़ें – PMKVY Registration Online 2022

कौशल विकास योजना ट्रेनिंग सेंटर खोलने के लिए अनिवार्य आवश्यकताएं –

अगर कोई आवेदक इन सभी बिन्दुओ के बारे मे ध्यान रखना है तो उसके लिए सेण्टर खोलना आसान हो जाता है –

  1. ट्रेनिंग पार्टनर बनने के लिए निर्धारित क्लासरूम होना चाहिए, ताकि बच्चों के बैठने मे आसानी हो।
  2. इसके अलावा ट्रेनिंग सेण्टर चलाने के लिए उस सेण्टर पर सम्पूर्ण सुविधाएँ होनी चाहिए।
  3. जितने भी स्टूडेंट उस सेण्टर पर आते है तो उनके हर स्टूडेंट के लिए तक़रीबन 10 फीट का स्पेस होना चाहिए।
  4. ट्रेनिंग सेंटर पर अलग – अलग विषय पढाये जाते है तो उसके अनुसार लैब की सुविधा भी होनी चाहिए।
  5. इसके अलावा NSDC की गाइडलाइन के हिसाब से कोर्स समय पर पूरा करना जरुरी है।
  6. जो भी स्टूडेंट उस ट्रेनिंग सेण्टर पर पढने आते है उन सब की 80 प्रतिशत तक अटेंडेंस अनिवार्य है।
  7. अगर सेण्टर पर कोई फिजिकल डिसएबल आता है उसको भी विशेष सुविधा दी जानी चाहिए, इसके बारे मे भी ध्यान रखना जरुरी है।
  8. इसके अलावा सेण्टर पर पानी की और प्रसाधन की सुविधा का होना जरुरी है।
  9. इसके अलावा इस योजना की ब्रांडिंग रूल के मुताबित सभी तरह की सुविधा जैसे होल्डिंग इत्यादि होने चाहिए।
  10. योजना के नियम के मुताबित एक कक्षा मे 30 से अधिक छात्र नही होने चाहिए।
  11. इस प्रशिक्षण के दोहरान सभी छात्रों की अटेंडेंस होना अनिवार्य है।

इसे पढ़ें – EWS प्रमाण पत्र kaise बनेगा?

कौशल विकास योजना ट्रेनिंग सेंटर कैसे खोले?

कौशल विकास योजना ट्रेनिंग सेंटर कैसे खोले?

स्किल इंडिया के तहत अगर कोई आवेदक ट्रेनिंग सेण्टर के लिए आवेदन करना चाहते है तो उसके लिए आपको इन सभी प्रोसेस को फॉलो करना होता है –

  1. ट्रेनिंग सेण्टर खोलने के लिए आपको सबसे पहले इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर आना होता है।
  2. वेबसाइट पर आने के बाद आपकोआप्शन Become a training provider के नाम से आप्शन मिलता है।
  3. अब Registration के लिए Accreditation and Affiliation, and other process on Skill India Portal के लिंक को खोलें
  4. अगले पेज पर आते ही Register as a training provider लिंक पर क्लिक करना होता है।
  5. इसके बाद आपको इसमे पूँछी गई जानकारी को भरना होता है।
  6. इस जानकारी को भरने के बाद इस फॉर्म को सबमिट करना होता है जिसके बाद ट्रेनिंग और इस योजना से जुड़े अधिकारी आपके ऑफिस और सेण्टर को विजिट करेंगे और उन सभी बातों की जांच करेंगे जो हमने ऊपर बताई है।

अगर आपका सेण्टर इस योजना की सभी जरूरतों पर खरा उतरता है तो आपको सेण्टर दे दिया जाता है जिसके बाद आप उसमे विद्यार्थियों का प्रवेश ले सकते है।

इसे पढ़ें – ऐसे करें बेरोजगारी भत्ता ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन Uttar Pradesh

प्रशिक्षण केंद्र पर उपलब्ध रहेंगे यह कोर्स

ट्रेनिंग सेण्टर पर इन सभी श्रेणी मे कोर्स मे प्रशिक्षण देने की सुविधा उपलब्ध रहेगी। इन सभी श्रेणी मे ट्रेनिंग सेण्टर छात्रों को ट्रेनिंग दे सकते है –

क्रमांक स्किल कौंसिल कोर्स संख्या
1 कृषि 10
2 घर सज्जा 9
3 सौन्दर्य और कल्याण 7
4 मोटर वाहन 10
5 बीएफ़एसआई 6
6 पूंजीगत वस्तुएं 6
7 निर्माण कार्य 7
8 घरेलू कार्य करने वाला 4
9 पृथ्वी मूविंग एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़े कोर्स 10
10 इलेक्ट्रॉनिक्स और हार्डवेयर 9
11 फ़ूड प्रोसेसिंग 5
12 फर्नीचर और फिटिंग 2
13 रत्न और ज्वेलरी 9
14 ग्रीन जॉब 5
15 हस्तशिल्प 8
16 स्वास्थ्य देखभाल 8
17 आयरन और स्टील सम्बंधित 9
18 आईटी और आईटीईएस 6
19 चमड़ा 6
20 जीव विज्ञान 5
21 लोजिस्टिक 8
22 मीडिया और एंटरटेनमेंट 8
23 खनिज 9
24 पैन्ट और कोटिंग 1
25 पाइपलाइन 3
26 बिजली उद्योग 6
27 खुदरा 6
28 रबर 3
29 सुरक्षा सेवा 9
30 खेल 1
31 दूरसंचार 3
32 वस्त्र और हथकरघा 10
33 खेल 7
34 पर्यटन 9

 

इसे पढ़ें – UP रोजगार मेला रजिस्ट्रेशन 2022, ऐसे पायें रोजगार

Leave a Comment