ऐसे करें जननी सुरक्षा योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 2022

देश में गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं की सुरक्षा व सामाजिक सशक्तिकरण के लिए केंद्र व राज्य सरकारें कई तरह की योजनायें चलाती रहती है। जननी सुरक्षा योजना, एक ऐसी ही एक योजना है जो गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता व स्वास्थ्य सेवा प्रदान करती है। मोदी सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना का लाभ कैसे ले सकते हैं इसकी जानकारी आपको इस आर्टिकल में बताई गयी है। इसके साथ ही जननी सुरक्षा योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व जरुरी डिटेल आपके साथ साझा की गयी हैं।

प्रधानमंत्री जननी सुरक्षा योजना 2022 –

जननी सुरक्षा योजना की शुरुआत साल 2005 में की गई थी। इस योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं को सुरक्षा और आर्थिक सहायता देना है। जिससे देश में के हर घर में स्वस्थ माता व बच्चा हो।

जननी सुरक्षा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 2022

जैसा की हम जानते हैं कि गर्भ के समय पैसों की कमी के कारण गरीब परिवार स्वास्थ्य का ध्यान नहीं रख पाते। जिससे जच्चा व बच्चा दोनों अस्वस्थ्य हो जाते हैं। इतना ही नही, गावों मे भी स्वास्थ्य सुविधा और चिकित्सा सुविधा भी आसानी से उपलब्ध नही रहती।

इसे पढ़ें – उड़ान योजना राजस्थान, बालिकाओं और महिलाओं को मिलेगा ये फायदा

जननी सुरक्षा योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 2022 प्रक्रिया –

PMJSSY में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए कोई विशेष प्रोसेस नही है। इसमे अगर आप रजिस्टर करवाना चाहते हैं तो उसके लिए एक फॉर्म डाउनलोड करना होता है। इस फॉर्म को सही जानकारी के साथ भरने के बाद इस फॉर्म को सम्बंधित अस्पताल या आशा कार्यकर्ता को जमा करवाना होता है।

जननी सुरक्षा योजना के आवेदन फॉर्म में महिला का नाम, पति का नाम, जन्म तारीख, पता इत्यादि भरना होता है। इसके बाद इस फॉर्म को नजदीकी आंगनवाडी केंद्र पर जमा करवाना होता है।

जिससे बाद उस फॉर्म को सम्बंधित अस्पताल या स्वास्थ्य विभाग द्वारा अग्रेषित किया जाता है। अस्पताल द्वारा इस फॉर्म को ऑनलाइन करने के लिए OJAS और PCTS जैसे सॉफ्टवेर का इस्तेमाल किया जाता है।

JSSY से सम्बंधित फॉर्म को ऑनलाइन करने के लिए जितनी भी तरह के सॉफ्टवेर का इस्तेमाल किया जाता है। यह सभी सॉफ्टवेर अस्पताल और स्वास्थ्य ऑफिस द्वारा ही इस्तेमाल किये जाते है। इस सभी सॉफ्टवेर का इस्तेमाल करने का कण्ट्रोल पब्लिक के पास नही होता है।

जननी सुरक्षा योजना का उद्देश्य –

  • जननी सुरक्षा योजना का सबसे मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं और शिशु को सुरक्षा देना है।
  • कई बार ऐसे देखा गया है की गाँवों मे महिलाएं अपनी जांच और मेडिकल से सम्बंधित सुरक्षा नहीं ले पाते है तो ऐसे मे यह योजना उनके लिए वरदान साबित होगी।
  • गर्भवती महिलाओं को और शिशुओं की लाभ और सुरक्षा देना।
  • मृत्यु दर को कम करना और शिशुओं की जन्म दर को सुरक्षा देना।
  • जन्म के बाद माँ और बच्चे को सुरक्षा देना और उनकी देखभाल करना भी इस योजना का उद्देश्य है।

जननी सुरक्षा योजना की विशेषतायें –

  • इस योजना मे देश के सभी राज्य और सभी केंद्र शासित प्रदेशों को शामिल किया गया है। इसके अलावा इसमे कुछ राज्य जैसे राजस्थान, ओडिशा इत्यादि राज्यों मे इस योजना का मुख्य रूप से विकास करना है।
  • योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक के पास जननी कार्ड या PCTS कार्ड का होना जरुरी है।
  • इस योजना का शत प्रतिशत लाभ केंद्र सरकार द्वारा दिया जाएगा।
  • स्कीम के तहत आशा को प्रतिबंधित किया गया है जिसमे वो अपने क्षेत्र के सर्वे करेंगे और अपने एरिया मे सभी गर्भवती महिलाओं की जानकारी इक्कठा करेगी और सभी गर्भवती महिलाओं को लाभ देना सुनिस्चित करेगी।

इसे पढ़ें – महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प, कहाँ से मिलेगा तुरंत लोन

जननी सुरक्षा योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए दस्तावेज –

योजना का लाभ लेने के लिए गर्भवती महिलाओं को शिशु के जन्म से पहले और शिशु जन्म के बाद किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है उसकी सूची नीचे बताई गई है।

  • आधार कार्ड – इसमे महिला और महिला के पति, दोनों के आधार कार्ड की कॉपी फॉर्म के साथ लगानी होती है।
  • बैंक खाते की पासबुक – इसके अलावा आवेदक को अपनी बैंक की पासबुक भी आवेदन पत्र के साथ लगानी होती है।
  • पते का प्रमाण – गर्भवती महिला के पते का प्रमाण जैसे मूल निवास इत्यादि फॉर्म के साथ लगाने होते है।
  • मूल निवास प्रमाण पत्र – गर्भवती महिला का मूल निवास प्रमाण पत्र और महिला के पति का मूल निवास प्रमाण पत्र जरुरी है।
  • राशन कार्ड – परिवार का राशन कार्ड।
  • डिलीवरी के दस्तावेज – इसके अलावा महिला की जिस अस्पताल मे डिलीवरी हुई है उस अस्पताल से डिलीवरी से सम्बंधित दस्तावेज भी इस फॉर्म के साथ लगान जरुरी है।

जननी सुरक्षा योजना हेल्पलाइन नंबर –

जननी सुरक्षा योजना से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप टोल फ्री नंबर 18001801900 पर कॉल कर सकते हैं। इसके द्वारा नवजात शिशु की देखभाल या पंजीकृत महिलाओं के निशुल्क प्रसव से संबंधी शिकायतें दर्ज की जा सकती हैं।

इसे पढ़ें – महिला पर्सनल लोन – जाने आप कैसे ले सकती हैं पर्सनल लोन लाखों में

JSY के तहत मिलने वाली सुविधाएँ –

  • इस योजना के तहत गर्भवती महिला जो गाँव मे रहती है उसको 1400 रूपये और शहर मे रहने वाली महिला को इस योजना के तहत 1000 रूपये दिए जाते है।
  • इसके अलावा जो भी आशा अगर महिला को प्रेरित करती है और उसकी देखभाल करती है तो उस स्तिथि मे उस महिला को सरकार द्वारा 300 रूपये सहायता राशि देती है।
  • योजना का लाभ सभी महिला को दिया जाता है फिर भले ही प्रसव सरकारी अस्पताल मे हुआ है या गैर – सरकारी अस्पताल में।
  • सम्बंधित आशा द्वारा गर्भवती महिला को प्रसव सम्बंधित जांच करवाने मे मदद करेगी और उसको सम्बंधित गोलिया और दवाई देने की सुविधा सुनिच्छित करेगी।
  • अगर कोई महिला बीपीएल श्रेणी मे आती है तो उसके लिए उस महिला को अस्पताल से घर जाने तक का किराया भी सरकार वहन करेगी।
  • अगर कोई महिला राज्य के बाहर की है तो उस स्तिथि मे उसको ANC कार्ड प्रस्तुत करने पर ही उसको इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

JSY से जुडी अधिक जानकारी इस वेबसाइट के माध्यम से ली जा सकती है। इससे अतिरिक्त, इस योजना से जुडी जानकारी के लिए आप NHM की वेबसाइट पर जानकारी प्राप्त कर सकते है।

इसे पढ़ें – ये हैं लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए योजनाएं, ऐसे उठायें लाभ

Leave a Comment