दूध डेयरी लोन लेना हुआ आसान, ऐसे शुरू करें 2022 में अपना बिजनेस

जैसा कि आप जानते हैं कि डेयरी फार्मिंग एक छोटे व्यवसाय की श्रेणी में आता है। इस व्यवसाय जो आप कम निवेश के साथ भी शुरू करके आमदनी का अच्छा जरिया बना सकते हैं। वर्तमान समय में देश के विभिन्न हिस्सों में लाखों की संख्या में लोग दूध डेयरी लोन लेकर डेयरी फार्मिंग के बिसनेस से लाखों की कमाई कर रहे हैं। लेकिन निश्चित तौर पर यह मेहनत और व्यापर की समझ के बाद ही संभव हो पाता है।

अगर आप भी अपने गाँव या कस्बे में दूध डेयरी खोलना चाहते हैं और कुछ लोन की आवश्यकता है। तो यहाँ बताई गयी जानकारियां आपके काफी काम आ सकती हैं –

दूध डेयरी लोन 2022 –

दूध डेयरी लोन, पशुपालन द्वारा दुग्ध उत्पादन करके मुनाफा कमाने के लिए भारत सरकार द्वारा दिया जाता है। नए पशुओं को खरीदने या डेयरी चारा आदि के इन्तेजाम के लिए सरकार ने कई योजनायें किसानों भाइयों के लिए चला रखी हैं। आज हम जिस योजना बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं उसका नाम है डेयरी उद्यमिता विकास योजना।

दूध डेयरी लोन

इसे पढ़ें – 20 हजार का लोन तुरंत कैसे लें?

केंद्र सरकार की इस योजना के तहत राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक यानी नाबार्ड द्वारा डेयरी उद्योग शुरू करने जा रहे लोगों को बैंक से लोन पाने की सुविधा व लोन चुकाने में सब्सिडी मदद भी देती है। 

क्या हैं योजना की प्रमुख बातें –

  • सहकारी, क्षेत्रीय, कमर्शियल, ग्रामीण या नाबार्ड बैंक द्वारा डेयरी फार्मिंग के लिए 7 लाख तक का लोन इस योजना के तहत मिल सकता है। 
  • उद्यमी द्वारा लिए गए लोन पर 33.33% तक का अनुदान यानी सब्सिडी सरकार द्वारा। 
  • दूध डेयरी लोन के लिए दुधारू पशुओं की संख्या न्यूनतम 2 और अधिकतम 10 पशु लेने होते है।
  • यह योजना पशुपालन और डेयरी विभाग द्वारा वित्तपोषित है।
  • आवेदक को अपनी डेयरी में अधिक दुधारू किस्म जैसे साहीवाल, रेड सिंधी, गिर, राठी या भैंस की प्रजातियाँ रखनी होती है।
  • पशुओं के चारे की व्यवस्था के लिए आवेदक के पास पर्याप्त खेत होना चाहिए।
  • 18 से 65 वर्ष आयु के पात्र लोग डेयरी उद्यमिता योजना का लाभ ले सकते हैं।

इसे पढ़ें – अर्जेंट लोन के लिए सरकारी योजनायें

दूध डेयरी लोन लेने की क्या है प्रक्रिया –

डेयरी योजना लोन आवेदन के लिए सबसे पहले आवेदक को अपने नजदीकी सहकारी, क्षेत्रीय, कमर्शियल, ग्रामीण या नाबार्ड बैंक जाना होता है। बैंक में डेयरी उद्यमिता विकास योजना के अंतर्गत लोन लेने की बातचीत करनी है। इसके बाद डेयरी के लिए दिए गए आवेदन फॉर्म के साथ अन्य जरुरी दस्तावेज बैंक मेनेजर के पास जमा कर देने हैं।

आवेदन में बताई गयी सभी डिटेल, वेरीफाई हो जाने के बाद आवेदक उद्यमी के बैंक खाते में मांगी गयी धनराशि दे दी जाती है। इसके बाद सिर्फ लोन की EMI चुकाना रहता है। सरकार के द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी का लाभ भी लोन चुकाने के दौरान ही दिया जाता है।

दूध डेयरी लोन लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज –

  • पशु चारे के लिए जमीन के कागज
  • आधार कार्ड या अन्य फोटो पहचान पत्र
  • निवास प्रमाणपत्र
  • आय प्रमाणपत्र
  • इनकम टैक्स रिटर्न
  • जाति प्रमाण पत्र
  • प्रोजेक्ट रिपोर्ट (कार्य योजना)
  • प्रतिज्ञा प्रमाण
  • मोबाइल, ईमेल आदि।

इसे पढ़ें – पोल्ट्री फार्म लोन सब्सिडी योजना 2022

कौन कौन ले सकता है लोन –

  • आम किसान
  • असंगठित और संगठित क्षेत्र के ग्रुप
  • स्वयं सहायता समूह द्वारा
  • डेयरी सहकारी समितियां
  • दुग्ध उत्पादक संघ
  • पंचायती राज संस्थाएं

इसे पढ़ें – नए उद्यमियों के लिए एमएसएमई योजनाएं

23 thoughts on “दूध डेयरी लोन लेना हुआ आसान, ऐसे शुरू करें 2022 में अपना बिजनेस”

    • Sir ji mere yaha abhi 10 pashu hai or hm pashuo ki sankhya badhana chahte hai kam se kam 100 pashu rakhna chahte hai isliye hmko lone chahiye bataiye sir gi hmko kya karna padega lone lene ke liye

      Reply
    • मेरे को दूध उद्योग बढ़ाना है
      एम पी डिस्टिक राजघर ब्यौरा
      से हु

      Reply

Leave a Comment