ये हैं नए उद्यमियों के लिए एमएसएमई योजनाएं, उठायें फायदा

हमारे देश में सरकार स्वरोजगार करने के इच्छुक नए उद्यमियों के लिए कई एमएसएमई योजनाएं चला रही है। वर्तमान में केंद्र की मोदी सरकार भारत को स्टार्टअप हब बनाने के लिए तेजी से काम कर रही है। अगर आप भी नया बिजनेस करने का सोंच रहे हैं तो ये आर्टिकल आपको कई महत्त्वपूर्ण सरकारी योजनाओं की जानकारी देने वाला साबित होगा। 

इन MSME योजनाओं का लाभ उठाकर आप न सिर्फ नए उद्यम के लिए लोन ले सकेंगे बल्कि सरकार आपके द्वारा लिए गए ऋण पर अच्छी खासी सब्सिडी भी देगी। तो चलिए शुरू करते हैं –

नए उद्यमियों के लिए एमएसएमई योजनायें –

  1. PMEGP स्कीम (प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम)
  2. प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना
  3. SIDBI दुवारा माइक्रो और स्माल एंटरप्राइजेज के लिए क्रेडिट गारंटी ट्रस्ट फण्ड।
  4. क्रेडिट गारंटी योजना
  5. स्टार्टअप इंडिया
  6. बैंक क्रेडिट सुविधा

नए उद्यमियों के लिए एमएसएमई योजनाएं

अगर आप कोई नया व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं या आपका कोई बिजनेस जिसे आप आगे बढ़ाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको इन 6 योजनाओं का फायदा मिल सकता हैं। यह वो योजनायें हैं जिनके माध्यम से आप आसानी से आपने बिजनेस के लिए लोन ले सकते हैं और अपने बिजनेस को आगे बढ़ा सकते हैं। आइये इनके बारे में विस्तार से जानते हैं –

PMEGP स्कीम (प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम) –

केंद्र सरकार की ये योजना भारत के सभी राज्यों में चल रही है। PMEGP योजना, ग्रामीण या शहरी क्षेत्र के सिर्फ उन लोगों के लिए है जो अपना नया बिजनेस शुरू करने जा रहे हैं। इसके आलावा शुरू किया जा रहा बिजनेस, सर्विस सेक्टर या मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का होना भी अनिवार्य है। इसके तहत ऋण मंजूरी की पूरी प्रक्रिया हमने इस लेख में बताई है –

इसे पढ़ें – पीएमईजीपी लोन मंजूरी की प्रक्रिया देखें

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना –

इस योजना के तहत आप अपने बिज़नस के लिए आसानी से बैंक से लोन ले सकते हैं। MUDRA जिसका पूरा नाम Micro Units development and refinance agency होता हैं। इस योजना के तहत हर कोई अपने बिज़नस के लिए 10 लाख रूपये तक का लोन ले सकते हैं। 

इस योजना को साल 2015 में लांच किया गया था और इस योजना के तहत आगामी 2 वर्ष के भीतर ही तक़रीबन 1।8 करोड़ से अधिक का सृजन हो चूका हैं। ऐसा भी बताया जा रहा हैं की इस लोन के तहत 14 अगस्त 2020 तक 67 हजार से भी अधिक लोन फाइल पास हो चुकी हैं जिसमे 48,000 करोड़ का लोन दिया जा चूका हैं। मुद्रा लोन तीन प्रकार के होते हैं –

  • शिशु लोन – यह एक छोटा बिज़नस लोन हैं जिसमे 50 हजार तक का लोन दिया जाता हैं। 
  • किशोर लोन – यह मध्यम बिज़नस के लिए लोन होता हैं। इसमें 5 लाख तक का लोन दिया जाता हैं। 
  • तरुण लोन – यह लोन बड़े बिजनेस के लिए होता हैं और इसमें 10 लाख तक का लोन दिया जाता हैं। 

इसे पढ़ें – मुद्रा लोन आवेदन की प्रक्रिया देखें

SIDBI दुवारा माइक्रो और स्माल एंटरप्राइजेज के लिए क्रेडिट गारंटी ट्रस्ट फण्ड

अगर कोई उद्यम स्टार्टअप या नया बिजनेस है जिसके लिए उन्हें फण्ड की आवश्यकता है तो उनके लिए यह काफी अच्छा आप्शन है। इस योजना के तहत नए बिजनेस और स्टार्टअप को बिना कुछ गिरवी रखे 1 करोड़ तक का लोन दिया जाता हैं ताकि नए बिज़नस को विकास की एक नई राह दी जा सके। 

यह भी एक प्रकार का बिजनेस लोन हैं जिसका संचालन SIDBI द्वारा किया जाता हैं। SIDBI जिसका पूरा नाम Small Industries Development Bank of India होता हैं। इस लोन में आपके अप्लाई करने के बाद अगर आपके दस्तावेज सही पाए जाते हैं तो आपका यह पैसा आपके पास 3 दिन में आ जाता हैं जिसे आप अपने बिजनेस में लगा सकते हैं। 

क्रेडिट गारंटी योजना –

यह सरकार के द्वारा चलाई जा रही एक ऐसी योजना हैं जिससे MSME की लोन प्रणाली और और भी आसान और मजबूत बनाया हैं। MSME की लोन प्रक्रिया को और भी सुविधाजनक बनाने के लिए इस क्रेडिट गारंटी फण्ड ट्रस्ट की शुरुआत की हैं। इस योजना में सरकारी, निजी और भारतीय स्टेट बैंक ऑफ़ इसकी सहयोगी बैंक के साथ-साथ इसमें ग्रामीण व क्षेत्रीय बैंक भी लोन देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। 

अगर किसी कंपनी का टर्नओवर 2 करोड़ का है तो इस योजना के तहत उस बिजनेस को 75 प्रतिशत राशि या 1.15 करोड़ रुपये तक की गारंटी कवर सुविधा उपलब्ध है। इसके अलावा सूक्षम उद्योगों पर 5 लाख तक के लोन पर तकरीबन 85 प्रतिशत तक की गारंटी कवर उपलब्ध होता है। 

स्टार्टअप इंडिया फण्ड –

वर्तमान में स्टार्टअप करने के लिए खुद सरकार प्रेरित कर रही हैं। ऐसे अलावा उन स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए भी सरकार कई तरह की योजनायें चला रही हैं। स्टार्ट इंडिया की इस योजना के तहत अनसुचित जाति / अनुसूचित जन जाति और महिला उद्यमियों को अपने बिज़नस और स्टार्टअप के लिए धन उपलब्ध करवाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई हैं। 

इस योजना के तहत बैंक की हर शाखा कम से कम एक SC / ST और महिला उद्यमी को लोन उपलब्ध करवाएगी। यह लोन की राशि 10 लाख से 1 करोड़ तक की हो सकती हैं। इस योजना के माध्यम से महिलाओं को काफी फायदा मिलेगा और वे खुद अपनी राह चुन पाएगी। 

इसे पढ़ें – स्टार्टअप India सीड फण्ड स्कीम क्या है?

बैंक क्रेडिट सुविधा –

इस प्लान को राष्ट्रिय लघु उद्योग निगम दुवारा संचालित किया जा रहा हैं। यह प्लान MSME व्यवसायों के लिए लोन की मांग की पूर्ति करती हैं। इस योजना के तहत जो भी लोन दिया जाता हैं वह राष्ट्रीयकृत बैंक के माध्यम से दिया जाता हैं। इस निगम और राष्ट्रीयकृत बैंकों ने एक MO पर हस्ताक्षर किये हैं जिसके माध्यम से बिना किसी लगत के MSME को लोन क्रेडिट दी जाती हैं। 

नए उद्यमियों के लिए इन एमएसएमई योजनाओं का फायदा कैसे उठायें?

इन नए उद्यमियों के लिए एमएसएमई योजनाएं, जिनका फायदा लेने के लिए आपके लिए सबसे पहले जरुरी हैं की आपके पास खुद का बिजनेस या बिजनेस आईडिया होना चाहिए। बैंक आपको लोन क्यों देगी अगर आपके पास एक Proper बिजनेस प्लान नही होगा तो। ऐसी योजना का फायदा केवल वही उठा सकते हैं जिनके पास खुद का सूक्षम और मध्यम प्रकार का बिज़नस या व्यवसाय हो। बैंक के माध्यम से ऐसी योजनाओं के लिए आवेदन किया जा सकता हैं।

मुद्रा योजना फॉर्म pdf खोलें

6 thoughts on “ये हैं नए उद्यमियों के लिए एमएसएमई योजनाएं, उठायें फायदा”

  1. Yes can this Bank take over my msme loan for solar plant from nanital bank as the bank is charging 9.1 rate of interest my unit is generating the energy successfully for last one and half year pl guide me..

    Reply
  2. भाई साहब मै पिछले 2 साल में 5 बार pmegp लोन के लिए आवेदन कर चुका हूँ लेकिन एक बार भी पास नही हो सका लोन केवल करोड़पतियों को ही मिलता है मेरा सारा document सही होता है लेकिन लोन पास ही नही होता

    Reply

Leave a Comment