नया धान कितने मूल्य में बेंचें, देखें प्रतिकुंतल धान का MSP रेट 2022-23

हमारे जिन किसान भाइयों को इस सीजन की मुख्य फसल धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी का इन्तजार था, उनके लिए यहाँ अच्छी खबर है। धान के साथ ही अन्य फसलों पर भी खरीफ फसलों का MSP 2022-23, केंद्र सरकार द्वारा बढाया गया है। तो पूरी डिटेल जानने के लिए इस लेख को पूरा पढ़िए –

खरीफ फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP 2022-23 

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल द्वारा फसली सत्र 2022-23 के लिए खरीफ फसलों की MSP में बढ़ोत्री की गयी है। धान समेत, इस सीजन की फसलों की कटाई के बाद सरकारी खरीद केंद्र पर इसी न्यूनतम समर्थन मूल्य के साथ खरीद होगी। अगर आपने अभी तक इसकी लिस्ट नयी देखी है तो नीचे दी गयी तालिका में देख सकते हैं –

खरीफ फसलों का MSP 2022-23

इसे पढ़ें – आधार कार्ड पर लोन कैसे लें? जाने यहाँ

जाने किस खरीफ फसल पर कितना मिलेगा न्यूनतम समर्थन मूल्य (kharif MSP 2022-23) 

कृषि उपज की सरकारी खरीद, सीजन 2022-23 के लिए सभी खरीफ फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य इस प्रकार है –

फसल एमएसपी 2021-22 (पुरानी) एमएसपी 2022-23 (नयी) उत्‍पादन लागत* 2022-23 MSP में वृद्धि (प्रति कुंतल) उत्पादन लागत 2022-23 पर मुनाफा (प्रतिशत में)
धान (सामान्‍य) 1940 2040 1360 100 50
धान (ग्रेड ए)^ 1960 2060 100
ज्‍वार (हाईब्रीड) 2738 2970 1977 232 50
ज्‍वार (मालदंडी)^ 2758 2990 232
बाजरा 2250 2350 1268 100 85
रागी 3377 3578 2385 201 50
मक्‍का 1870 1962 1308 92 50
तूर (अरहर) 6300 6600 4131 300 60
मूंग 7275 7755 5167 480 50
उड़द 6300 6600 4155 300 59
मूंगफली 5550 5850 3873 300 51
सूरजमुखी बीज 6015 6400 4113 385 56
सोयाबीन (पीला) 3950 4300 2805 350 53
तिल 7307 7830 5220 523 50
रामतिल 6930 7287 4858 357 50
कपास (मध्‍यम रेशा) 5726 6080 4053 354 50
कपास (लंबा रेशा)^ 6025 6380 355

इसे पढ़ें – फसल बीम योजना का लाभ कैसे उठायें?

सीजन 2021-22 के लिए खरीफ फसलों की MSP की खास बातें –

  • पिछले वर्ष की तुलना में इस बार खरीफ की सभी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढाया गया है।
  • धान की MSP/क्विंटल 100 रुपये बढ़ाई गयी है।
  • मोदी सरकार ने किसानों को फसलों के उचित दाम देने का प्रयास किया है जिससे वे जादा मात्र में फसल उगायें और अधिक लाभ उठा सकें।

खरीफ MSP बढ़ाने के उद्देश्य –

फसली सीजन 2022-23 के लिए खरीफ फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य वर्ष 2018-19 के केंद्रीय बजट में एमएसपी को अखिल भारतीय भारित औसत उत्पादन लागत (सीओपी) के ऊपर कम से कम 50 प्रतिशत लाभ निर्धारित करने की घोषणा के अनुरूप है।

मोदी सरकार किसानों के लिए फसलों के उचित उत्पादन के साथ ही उनकी आय में वृद्धि हेतु भी कृत संकल्पित है। इसी प्रयास में धान समेत अन्य फसलों का भी MSP बढाया है। जिससे किसानों को सभी फसलें अधिक उत्पादन के लक्ष्य के साथ लगायें।

यह ध्यान देने योग्य है कि एमएसपी पर लाभ अखिल भारतीय भारित औसत उत्पादन लागत से 50 प्रतिशत अधिक है जो कि कुछ फसलों के लिए इस प्रकार है –

  • बाजरा – 85%
  • तूर – 60%
  • उडद – 59%
  • सूरजमुखी बीज – 56%
  • सोयाबीन – 53%
  • मूंगफली – 51%

 

अन्य पढ़ें –

मुद्रा लोन योजना ऑनलाइन फॉर्म, आवेदन

पीएमईजीपी योजना 2022, ऋण मंजूरी की प्रक्रिया व ब्याज दरें देखें

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं?

अर्जेंट लोन पाने के लिए, इन योजनाओं को पढ़ें

6 thoughts on “नया धान कितने मूल्य में बेंचें, देखें प्रतिकुंतल धान का MSP रेट 2022-23”

  1. घंटा किसानों को एमएसपी मिलता है या 1300 1400 मैं धान बिकता है वजन भी ज्यादा लेता है सारे चेयरमैन और मिल वालों का खेल है किसी किसान को सही रेट नहीं मिल पाता है सब अफसरों का का मिलीभगत से मिल बांटकर खाया जाता हैऔर कोई किसान दे भी देता है पैक्स में तो पैसे भी लेट मिलता है महीनों बाद बाद मिलता है पैसे पैक्स के चेयरमैन ओं का चुनाव सही तरीके से होना चाहिएएक ही चेयरमैन काफी दिनों से रह जाता है वह अपने लोगों का वोटर लिस्ट में नाम डालता है बाकी वह काफी दिनों से चेयरमैन बना रहता है दूसरा कोई नहींबन बन पाएगा

    Reply
  2. ऐ सभी बातें सिर्फ कागज के टुकड़े पर ही है धरातल पर 1400-1450 के ही बिक्री हो रहा है किसानों को ठगा गया है

    Reply
  3. किसान हम भी है हमलोग का धान तो कोई पुछ भी नहीं रहा है हम सभी किसानों को परेशान किया जा रहा है कभी सरकार से तो कभी बे मौसम बरसात से पिएम साहब और तोमर साहब हम किसानों का भी कभी सुना किजिए

    Reply
  4. अगर Msp मील रही है तो कहाँ पर मिल रही ये झूठे .डंडा जनता सब बजाना। जानती है

    Reply
  5. Bahut kam kiya hai msp hamari fasal ki lagat dino din badti ja rahi hai gehu ka bhav 3000 rupye Quital hona chahiye aur kapas ka 10000 tab jake kishano ko fayda hoga nahi to kishan wahi subah se sam tak kam karega aur milega kuch nahi जय जवान जय कीशान

    Reply

Leave a Comment