एक देश एक राशन कार्ड योजना | One Nation One Ration Card 2021 in Hindi

One Nation One Ration Card, केंद्र सरकार की उन लाभकारी योजनाओं में एक है। जिसके द्वारा कोरोना महामारी जैसे समय में देश के लोगों को बहुत लाभ और सहूलियत मिली। इस योजना के तहत आधार कार्ड से लिंक सभी राशन कार्डों का उपयोग किसी भी राज्य में किया जा सकता है, चाहे राशन कार्ड धारक किसी भी राज्य, शहर या जिले का रहने वाला हो। इस लेख में हमने एक देश एक राशन कार्ड योजना से जुड़ी सभी जरुरी जानकारियां आपके साथ साझा की हैं। एक देश एक राशन कार्ड योजना का लाभ कैसे उठाना है?, नया राशन कार्ड कैसे बनेगा? आदि सवालों और योजना से जुड़ी सारी जानकारी इस पोस्ट में आपको मिल जाएगी। इसलिए इस आर्टिकल को आखिर तक पढ़ें –

One nation one ration card scheme

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना पूरे देश में 1 जून 2020 से सक्रियता से लागू है। यह फैसला देश में लॉक डाउन और कोरोना महामारी को देखते हुए लिया गया था। जिससे गरीब लोगों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत फ्री राशन का लाभ आसानी से मिल सके। देश में अब तक लगभग 23 राज्यों के 67 करोड़ से जादा लोग इस योजना से जुड़ चुके हैं। मार्च 2021 तक देश के सभी राज्य इस योजना से जुड़ जाएंगे।

आपको बता दें, वन नेशन वन राशन कार्ड योजना का पहली बार जिक्र अप्रैल 2018 में हुआ था। उसके बाद इस योजना पर काम शुरू हो गया। सबसे पहले लोगों के राशन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ा गया। आधारकार्ड से जोड़ने के बाद सभी राशन की दुकानों (कोटा) को इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ़ सेल (ePOS) मशीनों से लैस किया गया। जिससे आपके फिंगर प्रिंट की पहचान की जाती है, और आपको अपने परिवार के हिस्से का राशन मिल पाता है।

नयी अपडेट

One Nation One Ration Card Yojana के अंतर्गत अब सभी राज्यों के लोग मेरा राशन ऐप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। इस मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से राशन कार्ड माइग्रेशन और नियमित लेन देन की जानकारी उपलब्ध है।

Mera Ration App पर राशन वितरण प्रणाली की सभी जानकारियां और सुविधायें उपलब्ध करवायी जाएँगी। 

एक देश एक राशन कार्ड योजना कैसे काम करती है?

एक देश एक राशन कार्ड योजना को सफल बनाने के लिए सरकार ने नयी तकनीक का उपयोग किया है। पूरे देश में एक ही राशन कार्ड पर राशन मिलने के लिए सरकार ने दो तरह के पोर्टिबिलिटी सिस्टम तैयार किये है।

  1. इंट्रा-स्टेट पोर्टेबिलिटी (Intra-state Portability)- इस पोर्टेबिलिटी सिस्टम से आप अपने राज्य के किसी भी जिले से पीओएस मशीन के जरिये राशन ले सकते हैं।
  2. इंटर-स्टेट पोर्टेबिलिटी (Inter-state Portability)- इस पोर्टेबिलिटी सिस्टम से आप देश के किसी भी राज्य में अपने राशन कार्ड से राशन ले सकते हैं।

वन नेशन वन राशन कार्ड व्यवस्था को ऑपरेट करने के लिए सरकार ने दो वेब पोर्टल तैयार किये गए हैं। जो इस प्रकार हैं –

  1. अन्न वितरण पोर्टल (annavitran.nic.in)इस पोर्टल से किसी राज्य के भीतर ePOS के माध्यम से बांटें गए अनाज का सारा विवरण प्राप्त किया जा सकता है। यह पोर्टल किसी राज्य के भीतर सभी जिलों में इंट्रा-स्टेट राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी की सुविधा उपलब्ध करवाता है। मतलब आप अपने राज्य में किसी भी जिले में सरकारी राशन की दुकान से राशन ले सकते हैं।
  2. इंटीग्रेटेड मैनेजमेंट ऑफ़ पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (IM-PDS)पीडीएस सिस्टम देश में सभी राज्यों को इंटर-स्टेट राशनकार्ड पोर्टेबिलिटी की सुविधा उपलब्ध करवाता है। मतलब यदि कोई व्यक्ति अपने राज्य के बाहर रहता है, तो वह वहां भी अपने राशनकार्ड से सरकारी राशन की दुकान पर राशन पा सकता है। लॉक डाउन के दौरान कई राज्यों में इस व्यवस्था में तेजी लाने का प्रयास हुआ था।

एक देश एक राशन कार्ड का उद्देश्य

  • देश में गरीब और प्रवाशी लोगों को सरकार के द्वारा दिए जाने वाले मुफ्त सब्सीडी का राशन का लाभ मिल सके।
  • देश में किसी को खाने से सम्बंधित आर्थिक संकट का सामना न करना पड़े।
  • विषम परिस्थियों में लोगों को सीधा सरकारी लाभ पहुचाया जा सके। जिससे उन्हें घर वापसी के लिए मजबूर न होना पड़े। जिस प्रकार हाल में लॉक डाउन के दौरान हुआ था।
  • लोगों को आर्थिक भोझ और भुखमरी से बचाना।

एक देश एक राशन कार्ड के लाभ

पूरे देश में One Nation One Ration Card लागू हो जाने से लगभग 81 करोड़ राशन कार्ड धारकों को लाभ होने वाला है।आइये जानते हैं इस योजना से मुख्यतः क्या क्या लाभ होगा –

  • एक देश एक राशन कार्ड योजना से प्रवासी कामगारों को सीधा लाभ होगा।
  • कोरोना महामारी से देश में लॉक डाउन से देश के अलग-अलग कोने में फसें लोगों को खाने की समस्या नहीं होगी .
  • गरीब और बेरोजगार प्रवासी कामगारों और मजदूरों को आर्थिक संकट से बचने में मदद मिलेगी।
  • देश का कोई भी नागरिक देश के किसी भी कोने में अपने राशन कार्ड से अपने हिस्से का राशन आसानी से ले सकेगा।
  • राशन कार्ड प्रणाली में आधुनिक तकनीकी के इस्तेमाल से भ्रस्टाचार और धांधली ख़तम हो जाएगी।
  • वन नेशन वन राशन कार्ड से देश के बड़े राज्यों जैसे उत्तर प्रदेश, बिहार आदि के प्रवासी कामगारो को बहुत मदद मिलेगी।
  • तकनीकी और इन्टरनेट के समुचित उपयोग से डिजिटल इंडिया और आत्मनिर्भर भारत जैसे अभियानों को बल मिलेगा।

One nation one ration card Online Apply

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को सरकार ने बड़े ही व्यवस्थित तरीके से शुरू किया है। इसमें सरकार ने सभी पुराने आधार कार्ड से जुड़े राशन कार्डों को इंटीग्रेटेड मैनेजमेंट पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम के द्वारा स्वतः रजिस्टर कर दिया गया है।

मतलब अब आपको ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करने की जरुरत नहीं है। सरकार इस योजना से सभी राज्यों को अपने आप ही जोड़ रही है। अब आप देश के किसी भी कोने में रहें, सरकार आपकों वहां भी अपने राशन कार्ड का इस्तेमाल करने की सुविधा दे रही।

“वन नेशन वन राशन कार्ड स्कीम” के मुख्य बिंदु

सरकारी योजना का नाम एक देश एक राशन कार्ड योजना
योजना कब लागू हुई 1 जून 2020
किसने शरू की केंद्र सरकार
मंत्रालय का नाम केन्द्रीय खाद्य मंत्रालय
योजना का उद्देश्य पूरे देश में एक ही राशन कार्ड व्यवस्था लागू करके प्रवासी लोगों को राशन वितरण का लाभ लेने में सहायता करना .
लाभार्थी देश के सभी राशन कार्ड धारक

One nation one ration card Help line no

आप को यही इस योजना का लाभ पाने में कोई समस्या हो रही है। तो घबराइए मत सरकार ने आपके लिए अलग से एक सहायता संपर्क नंबर शुरू किया है।

टोल फ्री नम्बर – 14445

सरकार की इस योजना का लाभ हर देश वासी तक पहुचे, और हमारे देश के लोग सरकारी योजनों के प्रति सजक रहें, यही हमारा प्रयास है।उम्मीद है की आपको ये जानकारी पसंद आई होगी। कृपया इसे अन्य लोगों तक जरुर पहुचाएं जो योजना के बारे में नहीं जानते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *