स्वामित्व योजना क्या है? – Swamitva Yojana Card Download 2021

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना, केंद्र सरकार की एक ऐसी योजना है जिसके तहत सरकारी आबादी की जमीन में रहने वाले परिवारों को उस जमीन का संपत्ति कार्ड दिया जाता है। इस लेख में हमने इसी योजना की पूरी जानकारी आपके साथ साझा की है। अगर आप भी प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की पूरी जानकारी लेना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा पढ़ें –

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना क्या है?

पीएम मोदी ने स्वामित्व योजना की शुरुआत 24 अप्रैल 2020 को की थी। इस योजना के द्वारा देश के सभी गांवों में मौजूद आबादी की जमीन को चिन्हित किया जायेगा। उसके बाद उस पर जिन परिवारों का मकान या रहन-सहन है। उन्हें जमीन का मालिकाना हक़ दिया जायेगा, मतलब वो अपना प्रॉपर्टी कार्ड पायेगें।

दोस्तों अक्सर गांवों आपने देखा होगा कि जमीन विवाद की घटनाएँ होती रहती हैं। अधिकतर जमीन विवाद का कारण सरकारी आबादी की जमीन होती हैं। जिस पर लोग अपना अधिकार ज़माने के लिए आपस में झगड़ते रहते हैं। इन सभी समस्याओं का परमानेंट सलूशन करने के लिए मोदी सरकार ने इस योजना को शुरू किया है।

Overview

योजना का नाम प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना
कब शुरू हुई 24 अप्रैल 2020
किसने शुरू किया मोदी सरकार
मंत्रालय पंचायती राज मंत्रालय
उद्देश्य लोगों के रहन सहन का स्वामित्व अधिकार दिलाना
ऑफिसियल वेबसाइट svamitva.nic.in

प्रधानमंत्री ने 11 अक्टूबर को स्वामित्व योजना के तहत पिछले पांच महीने में हुए काम की समीक्षा की। साथ ही देश के विभिन्न हिस्सों के 1 लाख 32 हजार से अधिक परिवारों को प्रॉपर्टी कार्ड यानी घरौनी के दस्तावेज बांटें और उनसे बात भी की। अभी तक 663 गांवों की ड्रोन द्वारा मैपिंग की जा चुकी है। देश के अन्य हिस्सों में अब तेजी से काम चल रहा है।

नयी अपडेट –

24 अप्रैल 2021 को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस मनाया गया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने 4.09 लाख ई प्रॉपर्टी कार्ड बांटे गए। लाभार्थियों को विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उनकी घरौनी सौपी गयी।

PM Swamitva Yojana 2021 कैसे काम करेगी? –

दोस्तों आप को बता दें कि प्रधानमन्त्री स्वामित्व योजना का पूरा कार्यान्वयन पंचायती राज विभाग और राज्यों की मदद द्वारा किया जायेगा। इसमें ड्रोन जैसी आधुनिक तकनीक का प्रयोग करके वर्तमान में गावों मौजूद हर छोटे-बड़े लैंड मार्क जैसे कुआँ, नाली, मंदिर आदि की मैपिंग और फोटेज ली जाएगी।

आपके गाँव में पटवारी/लेखपाल आकर आबादी वाली जमीन का व्योरा इकठ्ठा करेंगे। साथ ही जिन लोगों का रहन सहन उस जमीन पर हैं उनका व्योरा जैसे आधार कार्ड, मोबाइल नंबर आदि लेंगें . एक रिपोर्ट के मुताबिक अगले 4 सालों में 6 लाख से अधिक गावों के सभी परिवारों को प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का लाभ मिल जायेगा .

स्वामित्व योजना के उद्देश्य –

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का उद्देश्य गावों के विकास में बाधक जमीन विवाद, भूमाफिया, अवैध कब्ज़ा आदि को दूर करना है। साथ ही उन सभी परिवारों को जिनके उनके मकान या रहन सहन का दस्तावेज उपलब्ध नहीं है। उन सब को सरकारी कागज दिलाना है, वो भी डिजिटल माध्यम और आधुनिक तकनीकी का प्रयोग करते हुए।

दोस्तों यह व्यवस्था इस लिए भी जरुरी थी क्यों कि आजादी के 70 सालों के बाद भी अभी तक लोगों के पास उनके रहने का मालिकाना हक़ नहीं था। प्रधानमंत्री ने लोगों को यह विश्वास भी दिलाया है कि अब वे अपने इस स्वामित्व दस्तावेज का प्रयोग करके किसी भी बैंक से लोन भी ले सकते हैं। जिससे वे अपना व्यवसाय भी बढ़ा सकते हैं। मोटे तौर यदि कहें तो इस योजना का उद्देश्य गरीब परिवारों को आर्थिक और मानसिक रूप से सक्षम बनाना है।

स्वामित्व योजना संपत्ति कार्ड ऑनलाइन आवेदन –

दोस्तों प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की अभी तक कोई ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया नहीं है। कुछ वेबसाइट पर इसके आवेदन की प्रक्रिया बिलकुल गलत बताई गयी है। अधिक जानकारी के लिए आप पंचायती राज मंत्रालय की ऑफिसियल वेबसाइट पर जा सकते हैं।

स्वामित्व योजना से सम्बंधित 11 अक्टूबर के कार्यक्रम में प्रधानमन्त्री जी द्वारा जो कार्ड वितरित किये गए थे। वे सभी लाभार्थियों के मोबाइल नंबर पर मेसेज के द्वारा दिए गए थे।

आपकों सिर्फ अपने गाँव में पटवारी या लेखपाल के आने पर उनके निर्देशों के अनुसार अपनी आवासीय जानकारी, आधार कार्ड और मोबाइल नंबर देना है। बाकि सारी प्रक्रिया सरकार द्वारा पूरी करली जाएगी।

Swamitva Yojana Card Download –

जिन लोगों के आवासीय व्योरे का सरकार द्वारा डिजिटल मैपिंग की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, वे अपना प्रॉपर्टी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

इसके लिए आपके मोबाइल नंबर जो मेसेज भेजा जायेगा उसी में दी गयी लिंक पर जा कर डाउनलोड करके प्रिंट करवाना होगा। राज्य सरकारें लोगों की सुविधा के लिए पंचायती राज मंत्रालय की वेबसाइट पर भी डाउनलोड की सुविधा दे सकती हैं।

डिजिटल सेवा सेतु क्या है?

पीएम स्वामित्व योजना के लाभ क्या हैं ?

भूमाफियाओं का होगा सफाया – गांवों में भूमाफिया के द्वारा किया जाने वाला अवैध कब्ज़ा और भ्रष्टाचार रुकेगा। देश के सभी परिवारों के पास अपना आवासीय स्वामित्व दस्तावेज के साथ सुनिश्चित हो जायेगा।

बैंक से लोन लेने में होगी सुविधा सभी संपत्ति कार्ड धारक अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए लोन पा सकेंगे। अब उन्हें किसी के सामने हाथ नहीं फैलाना होगा।

गांवों के विकास में आएगी तेजीड्रोन द्वारा मैपिंग और डिजिटल माध्यम से तैयार किये गए दस्तावेज का व्योरा सरकार सरकार के पास मौजूद होगा। जिससे गावों की विकास योजनाओं में सरकार को मदद मिलेगी।

नहीं होंगे अब आपस में जमीन विवाद – सभी आवासीय रहन सहन का डिजिटल मैप होने से जमीन विवाद से जुड़े मामलों में कमी आएगी। जिससे गरीब, पिछड़े और बेसहारा लोगों को विकास की राह पकड़ने में कोई दिक्कत नहीं होगी।

स्वामित्व योजना का मेरा अनुभव –

दोस्तों मैं भी ग्रामीण इलाके से हूँ, 12 अक्टूबर को मेरे गाँव में लेखपाल आये थे . उन्होंने हमारे गाँव में मौजूद सभी आबादी की जमीन को चिन्हित किया। इसके लिए उन्होंने अपने पुराने पंचायती मैप का प्रयोग किया था।

जिन लोगों का घर आबादी की जमीन में था। लेखपाल ने उन सभी परिवारों के मुखिया का आधार कार्ड और मोबाइल नंबर नोट किया। साथ ही उन्होंने सबके रहन और सहन का व्योरा नोट किया जैसे उत्तर, दक्षिण, पूर्व और पश्चिम दिशाओं में क्या चिन्ह ( घर, नाली, मंदिर, तालाब, घर आदि ) पड़ता है।

मैंने जब पुछा कि क्या अभी ड्रोन की मदद ली जाएगी ? तब उन्होंने कहा हाँ ड्रोन की मदद से पूरे गाँव की मैपिंग की जाएगी और सभी घरों के रहन सहन को चूने के द्वारा चिन्हित किया जायेगा।

PM Swamitva Yojana Help –

स्वामित्व योजना से जुडी किसी तरह की सरकारी सहायता के लिए आप पंचायती राज विभाग मंत्रालय की ऑफिसियल ईमेल का प्रयोग कर सकते हैं।

ईमेल एड्रेस – [email protected]

 

अन्य पढ़ें ——————–

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का आवेदन, लाभ, पात्रता, उद्देश्य जाने

आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है?

खसरा नंबर से जमीन का नक्शा देखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *