ये हैं लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए योजनाएं, ऐसे उठायें लाभ

लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाने और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए केंद्र व राज्य सरकार कई तरह की योजनायें चलाती रहती है। फिर चाहे लड़कियों को उनकी पढाई के लिए प्रोत्साहित करना हो या उनकी शादी का खर्चा मैनेज करना हो। आज के इस आर्टिकल हम जानेंगे कि वो कौन सी लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए योजनाएं हैं जो इस समय भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही हैं। 

लड़कियों के लिए सरकारी योजना 2022 –

केंद्र व राज्यों की सरकारों द्वारा वर्तमान में कई ऐसी योजनाओं को चलाया जा रहा है, जिनसे लड़कियों को सामाजिक व आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इन योजनाओं से लड़कियों की शिक्षा व शादी जैसे अति आवश्यक कामों को आसान बनाने का प्रयास किया जा रहा है। 

देश में कई ऐसे जरूरतमंद परिवार है जो अपनी बेटी की शादी कराने के लिए ऋण लेते है। ऐसी ही समस्या का समाधान करने के लिए सरकार ने एक योजना लागू की है जिसके तहत लड़की के जन्म से लेकर उसकी शादी तक का खर्चा सरकार उठाएगी। ऐसी ही एक योजना शादी अनुदान योजना के नाम से जाना जाती है। 

इसे पढ़ें – महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प

लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए योजनाएं –

लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए योजनाएं

सुकन्या समृधि योजना –

केंद्र सरकार ने बेटी बचाओ बेटी बढाओ प्लान के अंतर्गत इस योजना की शुरुआत की है। इस योजना एक छोटी सी बचत के रूप में लागू की गई है। इस योजना के तहत लड़कियों के नाम के पोस्ट ऑफिस में खाता खुलवाए जायेंगे और उनमे कुछ पैसे वार्षिक और मासिक के आधार पर जमा करवाए जायेंगे। 

इस पैसों पर काफी अच्छा ब्याज भी दिया जाएगा। इसके बाद जब भी लड़की की शादी होगी या लड़की आगे पढना चाहेगी तो उस समय यह पैसे उसके लिए काम आयेंगे। लड़की के नाम का पोस्ट ऑफिस में इस योजना के तहत खाता खोला जाएगा और उसमे मासिक 250 रूपये करवाए जा सकते है। यह एक बचत खाता है। 

इसे पढ़ें – बेटी की शादी के लिए सरकारी योजना 2022

सीबीएसई छात्रवृति योजना –

सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ सेकेंडरी एजुकेशन में अच्छे नंबर लाने वाली लड़कियों को इस योजना के तहत छात्रवृति दी जायेगी। अगर कोई लड़की कक्षा 12 में 60 प्रतिशत नंबर लाती है तो उन सभी छात्राओं को इस योजना के तहत हर माह 500 रूपये दिए जाएंगे। इस योजना के तहत मिलने वाले पैसे सीधे उन्हें खाते में भेजे जायेंगे। 

इस योजना का उद्देश्य उन लड़कियों को जो आर्थिक रूप से कमजोर है उन्हें मदद दी जायेगी ताकि वे आगे बढ़ सके और अपने अच्छे भविष्य की नीव रख सके। इस योजना के तहत लड़कियों को प्रोत्साहित करना एक अच्छा उद्देश्य है। 

बालिका समृधि योजना –

इस योजना के तहत भी लड़कियों को मदद दी जायेगी। देश में लड़कियों के लिए चल रही इस योजना की शुरुआत साल 1997 में की गई थी। इस योजना की शुरुआत केंद्र सरकार ने की थी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश की लड़कियों के जन्म और उनकी शिक्षा के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित करना है। 

इस योजना के तहत लड़की के जन्म पर लड़की के नाम के उसकी माता को 500 रूपये दिए जायेंगे वही जब भी वो लड़की स्कूल में प्रवेश लेगी तो उस समय भी उस लड़की को आर्थिक सहायता दी जायेगी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य लडकियों के जन्म और लड़कियों की पढाई के प्रति लोगो को जागृत करना है। 

इसे पढ़ें – सबसे सस्ता होम लोन किस बैंक का है?

बालिका समृधि योजना के तहत मिलने वाली राशि कुछ इस प्रकार रहेगी। इस योजना में दी जाने वाली राशि कुछ इस प्रकार रहेगी – 

  • लड़की के स्कूल में प्रवेश लेने पर मिलने वाली राशि – 300 रूपये दिए जायेगे। 
  • कक्षा 4 में प्रवेश लेने पर – 500 रूपये दिए जायेंगे।
  • 5 में प्रवेश लेने पर – 600 रूपये दिए जायेंगे।
  • कक्षा 6 और 7 में प्रवेश लेने पर – 700 रूपये दिए जायेंगे।
  • 8 में प्रवेश लेने पर – 800 रूपये दिए जायेंगे।
  • कक्षा 9 और 10 में प्रवेश लेने पर – 1000  रूपये दिए जायेंगे। 

इस तरह से इस योजना का लाभ दिया जाएगा। 

मुख्यमंत्री राजश्री योजना –

राजस्थान की राज्य सरकार द्वारा चलाई जाने वाली इस योजना में लड़कियों को उनके जन्म के समय राशि दी जाती है। इस योजना का लाभ केवल लड़की के जन्म पर उसके जन्म से लेकर उसकी शिक्षा तक का खर्च उठाने के लिए दिया जाता है। 

लड़की के जन्म के संमय उसकी माता की 2500 रूपये दिए जाते है। यह पैसे उसको चेक देकर या उसको ऑनलाइन पैसे ट्रान्सफर कर के भेजे जाते है।इसके बाद स्कूल में प्रवेश लेने पर बच्ची के खाते में 4 हजार की राशि भेजी जाती है।

इस तरह से जब लड़की कक्षा 6 में प्रवेश लेती है तो उस लड़की को 5 हजार पर 11 कक्षा में प्रवेश लेने पर उस लड़की को 11 हजार रूपये दिए जाते है ताकि वो अपनी पढाई पूरी कर सके।

इसे पढ़ें – देखें कन्या सुमंगला योजना का पैसा कब तक आएगा?

मुख्यमंत्री कन्या सुरक्षा योजना –

इस योजना को बिहार सरकार द्वारा संचालित किया जाता है। इस योजना के तहत राज्य की हर लड़की को 2 हजार की राशि दी जायेगी। इस योजना में बिहार राज्य में रहने वाली या जन्म लेने वाली बालिका ही लाभार्थी हो सकती है। 

लड़की के जन्म के समय यह पैसे दिए जाते है। इस योजना का लाभ लेने के लिए लड़की का जन्म प्रमाण पत्र सम्बंधित विभाग में जमा करवाना होता है उसके बाद इस योजना से जुड़ा लाभ लिया जा सकता है। 

माजी कन्या भाग्यश्री योजना –

महाराष्ट्र सरकार द्वारा लागू इस योजना के तहत बच्ची के जन्म से 5 साल तक हर लड़की को 5 हजार की राशि दी जायेगी। इसके बाद जब वो लड़की कक्षा 5 में आ जाती है तो उस लड़की को इस योजना के तहत 2500 रूपये दिए जायेंगे। 

इसके बाद वो लड़की जैसे ही कक्षा 12 में आती है तो उस लड़की को इस योजना के तहत 3000 की राशि दी जायेगी। 18 साल की उम्र के बाद उस लड़की की शादी के लिए 1 लाख रूपये की अनुदान राशि दी जायेगी जिसका उपयोग केवल उस लड़की की शादी के लिए ही किया जा सकेगा या उस लड़की की उच्च पढाई के लिए। 

इसे पढ़ें – मुख्यमंत्री डिजिटल सेवा योजना, महिलाओं को मिलेगा स्मार्ट फ़ोन

4 thoughts on “ये हैं लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए योजनाएं, ऐसे उठायें लाभ”

  1. Mai pdhayi krke apna bhawishye bnana chahti hu kyuki Meri sareerik sthiti thik nhi hai ,Mai pdhayi puri krke job krungi or apna treatment krbaungi,,plz meri madat kijiye

    Reply
  2. Please meri madat kijiye mujhe aage ki padhayi karni hai per mere pass paise nahi hai college me admission lena hai jiski fee 14000r hai

    Reply

Leave a Comment